Google+ Followers

गुरुवार, 23 अगस्त 2012

Retrograde.... वक्री ग्रह





(आपके द्वारा ब्लॉग पर दिखाए विज्ञापन पर एक क्लिक से  हमारी संस्था द्वारा धर्मार्थ कार्यों पर १ रुपैये  योगदान होता है। पुण्य में अपरोक्ष रूप से आपका सहयोग ही सही ,क्या पता कहाँ आपके काम आ जाय …कृपया ऐड पर क्लिक करें )
          लेख को आरम्भ करने से पूर्व बता देना चाहता हूँ की हम आज वक्री ग्रहों के बारे में बात करेंगे,न की बक्री.वक्री का सामान्य अर्थ उल्टा होता है व बक्री का अर्थ टेढ़ा..साधारण दृष्टि से देखें या कहें तो सूर्य,बुध आदि ग्रह धरती से कोसों दूर हैं.भ्रमणचक्र में अपने परिभ्रमण की प्रक्रिया में भ्रमणचक्र के अंडाकार होने से कभी ये ग्रह धरती से बहुत दूर चले जाते हैं तो कभी नजदीक आ जाते हैं.जब जब ग्रह पृथ्वी के अधिक निकट आ जाता है तो पृथ्वी  की गति अधिक होने से वह ग्रह उलटी दिशा की और जाता महसूस होता है.उदाहरण के लिए मान लीजिये की आप एक तेज रफ़्तार कार में बैठे हैं,व आपके बगल में आप ही की जाने की दिशा में कोई साईकल से जा रहा है तो जैसे ही आप उस साईकल सवार से आगे निकलेंगे तो आपको वह यूँ दिखाई देगा मानो वो आपसे विपरीत दिशा में जा रहा है.जबकि वास्तव में वह भी आपकी दिशा की और ही जा रहा होता है.आपकी गति अधिक होने से एक  दूसरे को क्रोस करने के समय आगे आने के बावजूद वह आपको पीछे  यानि की उल्टा  जाता दिखाई देता है. और जाहिर रूप से आप इस प्रभाव को उसी गाडी सवार ,या साईकिल सवार के साथ महसूस कर पाते है जो आपके नजदीक होता है,दूर के किसी वाहन के साथ आप इस क्रिया को महसूस  नहीं कर सकते. ज्योतिष की भाषा में इसे कहा जायेगा की साईकिल सवार आपसे वक्री हो रहा है.यही ग्रहों का पृथ्वी से वक्री होना कहलाता है.सीधे अर्थों में समझें की वक्री ग्रह पृथ्वी से अधिक निकट हो जाता है.
                                                      अब निकट होने से क्या होता होगा भला?यही होता है की ग्रह का असर ,ग्रह का प्रभाव बढ जाता है. कई ज्योतिषियों का इस विषय पर अलग अलग मत है.कहा यह भी जाता है की वक्री होने से ग्रह उल्टा असर देने लगता है.आप जलती हुई भट्टी से दूर बैठे हैं,जैसे ही आप भट्टी के निकट जाते हैं तो आपको अधिक गर्मी लगने लगती है.क्यों?क्योंकि आपके और भट्टी के बीच की दूरी कम हो गयी है.भट्टी में तो आग तब भी उतनी ही थी जब आप उससे दूर थे,व अब भी उतनी ही है जब आप उसके नजदीक हैं.आग में कोई भी फर्क नहीं आया है बस नजदीक होने से हमें उसका प्रभाव अब प्रबलता से महसूस हो रहा है. एक अन्य उदाहरण लीजिये, आप किसी पंखे से दूर बैठे हैं जहाँ पंखे की बहुत कम हवा आप तक आ रही है,आप अपनी कुर्सी उठा कर पंखे के निकट आ जाते हैं,अब आप पंखे की हवा को अधिक जोर से महसूस कर रहे हैं.जबकि पंखा अब भी उसी स्पीड पर चल रहा है जिस पर पहले चल रहा था.प्रभाव में अंतर दूरी घटने से हुआ है,अवस्था में कोई फर्क नहीं आया है.इसी प्रकार यह मानना की वक्री होने से ग्रह अपना उल्टा असर देने लगेगा यह मान लेना है की भट्टी के निकट जाने से वह ठंडी हवा देने लगेगी,या निकट आने पर पंखा आग उगलने लगेगा.
                                               ग्रह के वक्री होने से उसके नैसर्गिक गुण में ,उसके व्यवहार में किसी प्रकार का कोई अंतर नहीं आता अपितु उसके प्रभाव में ,उसकी शक्ति में प्रबलता आ जाती है.देव गुरु ब्रह्स्पत्ति जिस कुंडली में वक्री हो जाते हैं वह जातक अधिक बोलने लगता है,लोगों को बिन मांगे सलाह देने लगता है.गुरु ज्ञान का कारक है,ज्ञान का ग्रह जब वक्री हो जाता है तो जातक अपनी आयु के अन्य जातकों से आगे भागने लगता है,हर समय उसका दिमाग नयी नयी बातों की और जाता है.सीधी भाषा में कहूँ तो ऐसा जातक अपनी उम्र से पहले बड़ा हो जाता है,वह उन बातों ,उन विषयों को आज जानने का प्रयास करने लगता है,सामान्य रूप से जिन्हें उसे दो साल बाद जानना चाहिए.समझ लीजिये की एक टेलीविजन चलाने के किये उसे घर के सामान्य  वाट के बदले सीधे हाई टेंसन से तार मिल जाती है.परिणाम क्या होगा?यही होगा की अधिक पावर मिलने से टेलीविजन फुंक जाएगा.इसी प्रकार गुरु का वक्री होना जातक को बार बार अपने ज्ञान का प्रदर्शन करने को उकसाता है.जानकारी ना होने के बावजूद वह हर विषय से छेड़ छाड़ करने की कोशिश करता है.अपने ऊपर उसे आवश्यकता से अधिक विश्वास होने लगता है जिस कारण वह ओवर कोंनफीडेंट अर्थात अति आत्म विश्वास का शिकार होकर पीछे रह जाता है.आपने कई जातक ऐसे देखे होंगे की जो हर जगह अपनी बात को ऊपर रखने का प्रयास करते हैं,जिन्हें अपने ज्ञान पर औरों से अधिक भरोसा होता है,जो हर बात में सदा आगे रहने का प्रयास करते हैं,ऐसे जातक वक्री गुरु से प्रभावित होते हैं.जिस आयु में गुरु का जितना प्रभाव उन्हें चाहिए वो उससे अधिक प्रभाव मिलने के कारण स्वयं को नियंत्रित नहीं कर पाते.
                                                                  कई बार आपने बहुत छोटी आयु में बालक बालिकाओं को चरित्र से से भटकते हुए देखा होगा.विपरीत लिंगी की ओर उनका आकर्षण एक निश्चित आयु से पहले ही होने लगता है.कभी कारण सोचा है आपने इस बात का ?विपरीत लिंग की और आकर्षण एक सामान्य प्रक्रिया है,शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन के बाद एक निश्चित आयु के बाद यह आकर्षण होने लगना सामान्य सी कुदरती अवस्था है.शरीर में मंगल व शुक्र रक्त,हारमोंस,सेक्स ,व आकर्षण को नियंत्रित करने वाले कहे गए हैं.इन दोनों में से किसी भी ग्रह का वक्री होना इस प्रभाव को आवश्यकता से अधिक बढ़ा देता है. यही प्रभाव जाने अनजाने उन्हें उम्र से पहले वो शारीरिक बदलाव महसूस करने को मजबूर कर देता है जो सामान्य रूप से  उन्हें काफी देर बाद करना चाहिए था.
                                                       शनि महाराज हर कार्य में अपने स्वभाव के अनुसार परिणाम को देर से देने,रोक देने ,या कहें सुस्त रफ़्तार में बदल देने को मशहूर हैं.कभी आपने किसी ऐसे बच्चे को देखा है जो अपने आयु वर्ग के बच्चों से अधिक सुस्त है,जा जिस को आप हर बात में आलस करते पाते हैं.खेलने में ,शैतानियाँ करने में,धमाचौकड़ी मचाने में जिस का मन नहीं लग रहा. उसके सामान्य रिफ़लेकसन कहीं कमजोर तो नहीं हैं . जरा उस की कुंडली का अवलोकन कीजिये,कहीं उसके लग्न में शनि देव जी वक्री होकर तो विराजमान नहीं हैं.
                                                        इसी प्रकार वक्री ग्रह कुंडली में आपने भाव व अपने नैसर्गिक स्वभाव के अनुसार अलग अलग परिणाम देते हैं.अततः कुंडली की विवेचना करते समय ग्रहों की वक्रता का ध्यान देना अति आवश्यक है.अन्यथा जिस ग्रह को अनुकूल मान कर आप समस्या में नजरंदाज कर रहे हो होते हैं ,वही समस्या का वास्तविक कारण होता है,व आप उपाय दूसरे ग्रह का कर रहे होते हैं.परिणामस्वरूप समस्या का सही समाधान नहीं हो पाता.
                                                  लेख के अंत में फिर बता दूं की वक्री होने से ग्रह के स्वभाव में कोई अंतर नहीं आता,बस उसकी शक्ति बढ़ जाती है.अब कुंडली के किस भाव को ग्रह की कितनी शक्ति की आवश्यकता थी व वास्तव में वह कितनी तीव्रता से उस भाव को प्रभावित कर रहा है,इस से परिणामो में अंतर आ जाता है व कुंडली का रूप व दिशा ही बदल जाती है.

196 टिप्‍पणियां:

  1. सुंदर विवेचन ..भाई साहब.......इसका मतलब जब कोई ग्रह गोचर में भी वक्री हो तो उसका प्रभाव भी बढ़ जायेगा ....

    उत्तर देंहटाएं
  2. बिलकुल बढ जाता है कपूर जी.अभी कोयला आवंटन का जिन्न जो सरकार के लिए गले की हड्डी बन रहा है,या अचानक कर्नाटक सरकार में जो उठा पटक मची ,या हाल ही में विलासराव देशमुख जी के साथ जो अनहोनी हुई ये सब शनि महाराज की वक्रता का ही परिणाम है.अपनी वक्रता के बाद मार्गी होने के समयकाल में ग्रह संक्रमित हो जाता है,व अपने स्वाभाव ,नियंत्रण,प्रभाव के अनुसार अच्छे -बुरे रिसल्ट जल्दी से देने लगता है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. guruhi agar shukra graha vakri hai. aur shadkshtak yog ho gaha ho toy kya phal hai. aur kya kare.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. दिखावे पर खर्च कम करें व छोटी बचत की ओर ध्यान लगायें तो भविष्य में लाभ मिलना तय हो जाता है।

      हटाएं
  4. mithun lagna mai dusre ghar mai guru vakri ho to kaisa yag hai ye matalab acha hai ki bura

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इस अवस्था में यह पैत्रिक धन सम्पदा ,व ससुराल पक्ष से मिलने वाले लाभ को रोकने वाला माना गया है।

      हटाएं
  5. पंडित जी, अगर छठे घर में कर्क राशी का (कुम्भ लगन) गुरु वक्री हो जाये तो कैसा फल देंगे . शुभ या अशुभ?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. परन्तु पंडित जी मेरे जीवन जब भी कुछ अच्छा या सुभ हुआ तब गुरु की ही दशा-प्रन्तार्दाश थी जब जब कुछ मिला गुरु की कृपया से ही तो कैसे असुभ हुए?

      हटाएं
    2. इसे ही मैं गुरु द्वारा दिया गया धोखा कहता आया हूँ.ध्यान दें कि आपकी कुंडली में गुरु पैसे से संबंधित दोनो भावों का स्वामित्व रखने वाले ग्रह हैं.अतः अपनी दशा अंतर्दशा में ये जातक को पैसे से दो चार तो अवश्य करते हैं किन्तु कुंडली में वास्तविक राजयोग शुक्र द्वारा बनना चाहिये .जाहिर रूप से शुक्र के शत्रु होने कि अवस्था में अपनी वक्रता का पहला प्रभाव यह शुक्र द्वारा बनाने वाले योग को भ्रमित करके करते हैं.वक्रता असल में क्या है?ग्रह द्वारा धोखा दिया जाना ही तो .हम सभी जानते हैं कि अपने भ्रमणपथ पर ग्रह सदा ही आगे कि ओर चलायमान हैं.ये कभी भी पीछे कि ओर नहीं आते. फिर भला उलटा कैसे चल सकते हैं.किन्तु पृथ्वी से एक खास अवस्था में देखे जाने पर ये उलटा चलने का भ्रम देते हैं.अर्थात धोखा देते हैं.बन्धु ज्योतिष में हर ग्रह कि 108 क्रियाएँ होती हैं.उसकी मात्र एक ही क्रिया को जानकर उसपर यकीन कर लेने से कभी भी पूर्ण फल प्राप्त नहीं होता.

      हटाएं
  6. कुम्भ लगन में गुरु अगर छठे भाव में कर्क राशी में उच्च के होकर वक्री हो जाये तो कैसा फल देंगे, सुभ या असुभ?

    उत्तर देंहटाएं
  7. मे वक्री ग्रह के बारे मे जानना चाह रहा था आप ने ज्ञान दीया आप का ध्यन्यवाद करता हु
    लेकिन बहुत से पंडित कहते हे कि शनि एक एसा ग्रह हे जो वक्री होने पर अच्छा होने पर भी बुरा फल देता हे एसा कयो कया ये सही हे और इसका उपाए बताए

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. गोविंद जी,आपका सवाल सही प्रकार से समझ नहीं पाया .पहले भी बताया था कि वक्री होना असल में धोखा देना जैसा है,भ्रमित करने जैसा है.मार्गी शनि मेहनत का परिचायक है.यह जातक से मेहनत कि डिमांड करता है.किन्तु अपनी वक्रता में यह स्वयम द्वारा सीधे तौर पर किए जाने वाली मेहनत का फल नहीं देता.जातक मेहनत करता रहता है ,शनि की वक्रता के कारण अंधाधुंध मेहनत करता है किन्तु उचित फल नहीं पाता ,अर्थात धोखा खाता है.यहीं जब भी वह इस प्रकार के कार्य करने लगता है जो अमूमन सुपरविजन के होते हैं यानी जहाँ वह दूसरों द्वारा की जां रही मेहनत से लाभ प्राप्त करता है (मेहनत का तात्पर्य शारीरिक मेहनत से है ) तो शनि महाराज सुंदर परिणाम प्रस्तुत करने लगते हैं.

      हटाएं
  8. dhanu lagn ki kundli me chathe bhav me vakri guru ka kya parinaam hota hai?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जीवन में कभी लीवर या इस हिस्से के आस - पास किसी प्रकार का रोग ,पीलिया .आदि का समीकरण बना सकता है. पैतृक धन सम्पदा को लेकर किसी प्रकार की उलझन का सामना इस के कारण के रूप में देखा जा सकता है .यदि सही प्रकार से नियंत्रित न किया गया तो ये जीवन में कर्ज लेने का कारक बनता है.

      हटाएं
  9. sir vakri guru agar 9 ghar main aur uch ka ho tab kya accha hai agar nahi to upay kya hai aur lagn capicorn ka ho tab

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. भाग्य भाव में उच्च के गुरु वक्री हो जाएँ तो जातक अपनी अपनी शिक्षा ,योग्यता के अनुसार मुकाम पाने में चूक जाता है. वो खुद को भाग्यशाली मानता है किन्तु अपने इतिहास को उठाकर देखे तो भाग्य ने सदा उसे अहम् मौकों पर धोखा दिया होता है. कहीं का प्रवेश पत्र उसे तब मिलता है जब साक्षात्कार का समय निकल चुका होता है.कहीं कोई फ़ार्म गुम हो जाता है ,जिस कारण उसके एक दो वर्ष तक का नुक्सान हो जाता है व कभी कभी कोई कक्षा -परीक्षा दो दो बार पास करनी पड़ती है. मित्र मंडली पीठ के पीछे सदा गद्दारी करती है. और भी कई बातें हैं योगेश जी जिन्हें महसूस किया जा सकता है.

      हटाएं
  10. bohat hi uttam vivechana ki hai aapne. dhanyvad.
    kripya bataye ki 5th bav mai guru k vakri hone se kya hota hai or ye kis tarah k prabhav daalta hai?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बहुत कुछ लग्न पर निर्भर होता है, फिर भी इसे शिक्षा प्राप्ति में अति आत्मविश्वाश का घोतक माना जा सकता है साथ ही संतान प्राप्ति के समय (यदि अकेले है तो ) संभवतः ये धोखा देने की अपनी फितरत पर अमल कर सकते हैं .

      हटाएं
  11. गुरूजी सादर प्रणाम....

    गुरूजी मेरी कुंडली में 08 गृह वक्री है इनके क्या सुप्रभाव और क्या दुष्प्रभाव होंगे कृपया समझाने का कष्ट करे....

    गृह राशि
    मंगल धनु
    बुध कर्क
    गुरु कुम्भ
    शनि वृश्चिक
    राहू मेष
    केतु तुला
    यूरेनस वृश्चिक
    नेप्चून धनु

    जीवन के स्थिरता कब आएगी...
    धन और नाम की स्थिति कैसी रहेगी...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. परम्परागत ज्योतिष में मात्र नव ग्रहों की गणना की जाती है जिसमें से राहु -केतु सदा वक्री ग्रह हैं व सूर्य -चंद्रमा सदा मार्गी .अतः आपके दिए डाटा के अनुसार आपकी कुंडली में चार ग्रह वक्री हैं।मात्र शुक्रदेव ही मार्गी अवस्था में हैं .किसी कुंडली में इतने ग्रहों का वक्री होना वास्तव में सामान्य नहीं माना जा सकता .अर्थात आप सामान्य नहीं हैं यानि सीधे शब्दों में आप को विशेष की श्रेणी में रखा जा सकता है .और जो विशेष हो उसे धन -सम्मान की भला क्या कमी हो सकती है .समय अवश्य लग सकता है किन्तु ग्रहों का प्रमाण है की आप एक दिन बुलंदियों का स्पर्श करेंगे .

      हटाएं
    2. GURUJI MERA SAHI DATA IS PRAKAR HAI :
      NAME - SATISH RAGHUWANSHI
      D.O.B. - 27/07/1986
      TIME - 01:15 AM
      PLACE - KHARGONE (M.P.)
      KRIPYA MARG DARSHAN KAREN

      हटाएं
  12. bhagya ke bhav ka swami bhagay main hi ho lakin vaki to main e suna hai guru jis ghar main ho viprit parirnam ulta hota hai to vakri guru ka kya result hoga

    उत्तर देंहटाएं
  13. mari date of birth hai 21-02-1979,
    12:45:52am mornning
    sikandrabad bulandshar up
    mera guru vakri hai
    mare paas paissa hai lakin phir bhi garib hoon job hai lakin na hi pvt aur na hi sarkari business ke liya naam hai bas kaam nahi abhi bhi job ki taiyyari kar raha hoon kya ye sab guru vakri hai iseliya

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इस कुंडली के ऊपर पूरा दिन बोल सकता हूँ या कई पन्ने लिख सकता हूँ .किन्तु स्थान व समय का अभाव तथा मेरी खुद की आजीविका की शर्तें आड़े आ जाती हैं . खुद ही में उलझे हुए जातक का स्पष्ट प्रमाण आप के प्रश्न से स्पष्ट हो जाता है पन्त जी .एक ऐसा जातक जो अपने पैदा होने के दिन से ही अपने चारों ओर एक जबरदस्त आभामंडल का निर्माण करने लगता है ,शुरू से ही जिसकी प्रतिभा के आगे कोई नहीं टिकता .जिसका सदैव कम्पटीशन बस खुद से ही होता है .इसी माया जाल को लेकर जब वह आगे बढता है तो स्वयं को विशेष की श्रेणी में रखने का आभास या कहूँ अहसास उसे पल पल अपने मकडजाल में घेरता जाता है .अपने पूर्वजन्म के प्रभाव के कारण गुप्त रहष्य ,दूसरी दुनियाओं अर्थात कल्पना लोक में विचरण करना उसका स्वाभाविक शगल होता है .अपने चारों तरफ मेला जुटाना ,अपने से बड़ों की संगत कर खुद को भी अन्दर ही अन्दर बड़ा समझाना व उसी प्रकार का व्यवहार करना ,उसे उस मकडजाल में और अधिक गहरे खींचता जाता है जिस का जिक्र मैंने आगे किया था .दशम भाव में शनि राहु की युति को मैं व्यक्तिगत रूप से पितृ दोष का ही एक रूप मानता आया हूँ ..कारण एक तो जातक को अपना कार्य क्षेत्र तलासने में समय लग जाता है साथ ही कई बार वह कई कामों में हाथ फंसाता चला जाता है .यही युति जेल ,झगड़ों ,मुकदमों का कारण जीवन में बनती है . समाज के लिए एन .जी .ओ जैसी संस्थाओं में समय देता है ,किन्तु अब धीरे धीरे आयु बढने के साथ साथ जब जातक को वक्री गुरु का दिया धोखा समझ आने लगता है तब तक पूरी नहीं तो काफी देर अवश्य हो चुकी होती है .अब गुरु का दिया धोखा भला क्या था ?वही आभामंडल ,वही मकडजाल जिस का जिक्र पीछे हमने किया .जीवन में किसी को गुरु नहीं बनाया अपितु खुद ही गुरु का भी गुरु स्वयं को समझा .यही वक्री गुरु का धोखा है और ये जातक आप है पन्त जी अगर जरा गौर करें तो . फोटोग्राफी ,नेताओं के सहायक ,वकालत ,वाहन ,खनिज व ब्याज आदि के क्षेत्र से घूमकर आखिर राजनीति से जुड़ना फायदे का सौदा हो सकता है .और आप राजनीति से अवश्य जुड़ेंगे ,आज नहीं तो कल ये स्पष्ट प्रमाण है . ये समय काल यदि आपने सही प्रकार से अपने आत्मबल के सहारे निकाल दिया तो आज आपको यकीन दिलाता हूँ पन्त जी की सरकारी नौकरी की गारंटी नहीं करता किन्तु अपने कार्यक्षेत्र में आप उच्चाधिकार प्राप्त करेंगे .
      ये समय काल आपके लिए टर्निंग पॉइंट है .फिलहाल तो २०१५ तक समय वैसे भी समय मारक माना जा सकता है .कमर व हाथ की हड्डी के प्रति सदा सचेत रहना व संभव हो तो एक बार पितृ दोष की शान्ति किसी योग्य ब्राह्मण के द्वारा अवश्य करा लें . मन से किसी गुरु की संगत अवश्य करें .

      हटाएं
  14. गुरूजी सादर प्रणाम

    मेरी कुंडली मे गुरू वृषभ लग्न मे ग्य़ारवे भाव मे वक्री होकर बैठा है क्य़ा ये बुरा असर डालेगा

    my dob-27 nov 1988
    time-23.10.00
    place -:jaipur(rajasthan)

    उत्तर देंहटाएं
  15. guruji sadar pranam
    mera kumbha lagna hai.sixth house me kark rashi me mangal hai.kaisa fal dega?shubh ya ashubh?

    उत्तर देंहटाएं
  16. guru ji mae dhanu lagna ka hu mere 4th house mae guru aur rahu meen rashi mae vakri hokar bathe hai iska kya effect hoga varkri hone ka kya ko nich bhang rajyog bhi ban raha hai,my date of birth is 8 nov 1987 time-10:53 am birth place -muzaffarpur bihar

    उत्तर देंहटाएं
  17. guruji kumbha lagna me sixth house me mangal vakri hai.kark rashi me .kya fal dega

    उत्तर देंहटाएं
  18. guruji nineth house me meen rashi me mangal aur moon vakri hai. kya fal dega.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. चंद्रमा वक्रता को प्राप्त नहीं होता है.मंगल के लिए संकेत मिलता है कि जीवन में आगे की शिक्षा का स्तर बढ़ा कर अपने कार्य भाव को बल दिया जा सकता है.

      हटाएं
  19. Guruji Pranam, Mera DOB 30-06-1978, Time : 06-00 AM hai. Patni ka D.O.B. 17-01-1976m time 1.30 P.M. Dono ka birth place Raipur (C.G.) hai. kai jyotish Patni ka manglik dosh aur wakri mangal batate hain.
    Meri Patnti mujhse alag rahti hai, aur bahut jyada krur swabhaw ki hai. Wo mere maa baap ko alag karne ke liye bar2 kahti hai. Mai maa baap ko nahi tyag sakta. Patni ko bhi rakhna chahta ho. Patni ke sath hamesha vivad hota rahta hai. Kya yah kundli ka dosh hai. Kya upay sambhaw hai?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धर्मपत्नी की आयु आपसे अधिक है ,क्या प्रेम विवाह हुआ था ?खैर फिलहाल ये बताएं की क्या आपकी धर्मपत्नी जी को नाक से सम्बन्धी कोई समस्या है ?

      हटाएं
    2. Ha sir, ye ek prem vivah tha. Ek purtra bhi hai. Uski D.O.B. 04-01-2012 Hai. Time 12.15 PM, Place : Raipur. Patni ko Naak se sambandhi koi samasya meri jankari me nahi hai. Plz sir, koi upay bataye. Mai har kosish karke thak chuka hu...

      हटाएं
    3. Guruji, Pranam. Mai ajay. Aapne mere prashna ka uttar nahi diya. Plz upay bataiye.

      हटाएं
  20. guru gi mere kundali kark lagan ke hai guru chothe ghar me bakri hai

    उत्तर देंहटाएं
  21. mera dob-08-11-1987 time-10:53 am birth place -muzaffarpur mera dhanu lagna hai aur guru meen rashi mae nich ke rahu ke sath vakri hai jo guru chandal yog bana raha hai .sath mae koi nich bhang rag yog bhi bana raha hai par iska kya effect hoga mere jindgi mae

    उत्तर देंहटाएं
  22. मीन में राहु नीच नहीं माना जाता। इसे मतान्तर से वृश्चिक व धनु में नीच कहा गया है।

    उत्तर देंहटाएं
  23. par vakri guru ka kya effect hoga mere jindgi mae joki sawarsi hai.

    उत्तर देंहटाएं
  24. par lal kitab aur bringu sanghita mae to meen rashi mae rahu aur budh ko nich ka kaha gaya hai

    उत्तर देंहटाएं
  25. Guru ji meri kundli me shani kanya rashi main 11 house main vakri hai kya phal dega.. dob.25-02-80 time.02:27AM.bhiwahi (haryana).Regards Gautam.

    उत्तर देंहटाएं
  26. Guru ji meri kundli me shani kanya rashi main 11 house main vakri hai kya phal dega. .dob.25-02-80 time.02 : 27AM.bhiwahi ( haryana ). Regards, Gautam

    उत्तर देंहटाएं
  27. Guruji mera guru 4 bhav me 10 rashime he mujhe vakri he mujhe kya sujav denge plz sadar pranam

    उत्तर देंहटाएं
  28. guruji mera guru 7-8 bhhav me hai muze permanant job kab lagegi aur shaadi kab hogi mata ki tabiyat karab hai kya kare dosto se baat nahi hoti pareshaan hu uppay bataye plz gaurav parekh pune

    उत्तर देंहटाएं
  29. Sir agar guru vakri ho kar 2.54 ansh par 2nd rashi me 9th house me ho to kya result dega or kis bhav ka phal dega,, please batayege ????

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कन्या लग्न की कुंडली प्रमाणित होती है। सप्तमेश होकर गुरु का नवम में स्थापित होना , समय के साथ साथ ससुराल पक्ष से संबंधों में मजबूती व लाभ की ओर संकेत है।

      हटाएं
  30. करक लगण का दवादश गुरू वकृ

    उत्तर देंहटाएं
  31. guru ji , me finance line me hu meri 1 company he jo sales tax income tax ka kam karti he . sab thik he par jis tarah se labh hona chaiye us tarah se nahi ho pata .
    24-05-1985,
    7;10 pm , indore kripya kar marg darshan de

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. हेमंत बाबू पुनर्वशु नक्षत्र में जन्म लेकर भाग्य में स्वराशि का चन्द्र ,व पंचम में उच्च के शुक्र,तो कुंडली को कमजोर तो नहीं माना जा सकता भैया ,किन्तु वास्तव में इस नक्षत्र का आधिपत्य गुरु को प्राप्त होता है ,व गुरु यहाँ पराक्रम भाव में नीच हो गए हैं ,वर्तमान दशा मई २०१४ से सितम्बर २०१६ तक बुध में राहु का अंतर भुगत रहे हो। वास्तव में अभी समय कार्य व्यवसाय से अधिक स्वास्थ्य के लिए चिंतित करने वाला हो सकता है अथवा अचानक आर्थिक नुक्सान रूप में इसे देखा जाना चाहिए। रक्तचाप व लिवर सम्बन्धी रोगों से बचें। पुखराज धारण कीजिये ,व योग्य ब्राह्मणो की देखरेख में महामृत्युंजय अथवा गजेन्द्र मोक्ष का पाठ गंगा के तट पर कीजिये। कमरे की दक्षिणी पश्चिमी दीवार पर हाथी का चित्र लगाएं , प्रभु की कृपा रही तो ३२ -३६ वें वर्ष के मध्य आपका जलवा समाज देखेगा। ....

      हटाएं
  32. mera bhagya uday kab hoga guru ji?? mera janam 30/06/1983 place- kharagpur, west bengal aur time- 8.25 pm hai

    उत्तर देंहटाएं
  33. guru jee pranam
    meri kundali kark lagan ki hai
    4 the ghar me shani ketu shani vakri
    7 we ghar me guru vakri
    8 we ghar me chandrama
    10 we ghar me sukra aur rahu...sukra vakri
    11 we ghar me surya budh
    12 me mangal


    abhi 2014 se shani ki maha dasha chal raha ahi

    mai abhi mansik pareshani se joojh raha hu kripya upaya bata ye

    उत्तर देंहटाएं
  34. Guru Jee Sadar Pranam
    Name - Akhilesh Jha
    Mera Kandali Singh Lagna Ka hai (Kanya rasi) (Hasta -2 Nakshtra)
    2nd Bhav - Chandra
    3rd Bhav - Rahu
    6th Bhav - Budh, Sukra
    7th Bhav - Surya
    8th Bhav - Guru
    9th Bhav - Ketu
    10th Bhav - Mangal
    12th Bhav - Sani (Vakri)
    Abhi Guru Ki Mahadasha me Sukra Ki Antradasha Suru Hua Hai....
    Mai Abhi Karz Me Dooba Hoon..... Meri Arthik Sthiti Thik Kab Hogi....
    Mera Zameen evam Makaan hoga ya naheen....
    Kripya Kar Upay Bataye.........

    उत्तर देंहटाएं
  35. Pandit ji Pranam, Meri DOB: 21-12-1984, Time 3:25 AM, Place: Suratgarh(Rajasthan) Hai

    Tula lagan ki Kundali H, Dvitiy Bhav me Budh, Chandra, Ketu Hai

    Budh Vakri h

    kya parinam honge or upay bataye

    pandit ji main Bahut garib hu, Karza badta ja raha h, aarthik condition kab sudhregi bataye

    उत्तर देंहटाएं
  36. Pandit ji pranam, mere janam ka vivran nimanlikhit hai

    DOB- 21 December 1984, Time 3:25 AM, Place- Suratgarh

    pandit ji main Bahut Garib hu, Aarthik dasha dhik karne ke liye koi upay bataye or vakri Budh ke pabhav ke Bare me likhe - Subh h ya Asubh.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. विष, ग्रहण व कालसर्पदोष से पीड़ित कुंडली है। समस्या तो है मित्र किन्तु भाग्य ब्रह्मा से लिखवा कर लाये हो तो आखिरकार सब कुछ पक्ष में होना ही है। अष्टधातु का नाग बनवाकर नित्य उसपर जल व दूध का अभिषेक करें ,एक बार काशी विश्वनाथ जी के दर्शन कर आएं ,लोहे का छल्ला दाहिने हाथ की मध्यमा में धारण करें ,३२ वें वर्ष भाग्योदय होना है तुम्हारा भैय्या

      हटाएं
  37. गुरु जी प्रणाम मेरा लग्न मिथुन है और इसमें केतु वक्री है और 3 भाव में गुरु वक्री है और 7 भाव में राहु वक्री है तो में ये जानना चाहता हु की मेको आगे क्या परेशानी आयेगी और जीवन कैसा रहेगा मेरा कृपया मार्ग दर्शन करे।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. राहु केतु सदा व सबकी कुंडली में वक्री ही होते हैं। गुरु वक्री है अर्थात स्वयं को अधिक चतुर मानने की प्रवृति है ,स्वयं पर लगाम लगाएं व १५ मिनट ध्यान लगाने का प्रयास करें , जल से दूर रहें व घर के मुख्य द्वार पर विंड चिम लगाएं

      हटाएं
  38. pandit ji lagna kundali ke 1st bhav me mangal,budh,guru,shukra or surya h, 6th me shani, 7th me chandra or 12th me ketu h krupya dosh or upay bataye

    उत्तर देंहटाएं
  39. Namaskar

    Wakri hone per uske dosh ko , kis tarah contrl kiya ja sakta , ratan dharan karene se , ye grah shanti dwara.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. पवन जी प्रथम तो ये जांचना आवश्यक है कि कौन सा ग्रह वक्री है ,सामान्य रूप से नीच ग्रह वक्री होकर उच्च के परिणाम देने लगता है व उच्च ग्रह नीच के परिणाम देता है।शनि वक्रो होने पर अपनी कार्यप्रणाली में अंतर देता है ,तो मंगल अपने स्वभाव में। शुक्र वक्री होता है तो स्त्रियों सा व्यवहार करने लगता है ,गुरु वक्री होने पर मानसिक क्षमता में असीमित वृद्धि कर देता है। वक्री बुध वाचालता देता है ,जातक अधिक बोलने लगता है ,अब ऐसे में किस ग्रह को कहाँ आपरेट करवाना है इसका निर्णय कुंडली से ही लिया जाना चाहिए,जहाँ तक आपका प्रश्न है तो उसका जवाब ये है क़ि आप ग्रह के विपरीत ग्रह को आपरेट कर इसकी वक्रता को नियंत्रित कर सकते हैं। जैसे सर्दी भगाने के लिए गर्मी का सहारा लिया जाता है व गर्मी से निजात पाने के लिए सर्दी को प्रभावी किया जाता है। अब प्रश्न ये है क़ि यदि पहले ही जीवन में गर्मी अधिक है तो सर्दी देने वाले कारक की वक्रता तो अपने आप में एक वरदान मानी जायेगी ,तो क्यों भला वक्रता को नियंत्रित करने का प्रयास किया जाय। आशा है आप समझ गए होंगे

      हटाएं
  40. ये आपसे किसने कह दिया कि वक्री होना सदा , दोषी होना होता है

    उत्तर देंहटाएं
  41. Guru ji Parham mera samye kharab chal rha me Kya kru D O B 13/5/1981 h
    time 7:40 a m kbhi achha time aayega kya btana ki karpa kre

    उत्तर देंहटाएं
  42. Guru Ji 4th house Mae rahu aur guru hai aur guru vakri hai meen rashi Mae aur dhanu lagna ki kundali hai iska kya effect hoga date of birth 8-11-1987 muzaffarpur Bihar 10:53am please effect bataye

    उत्तर देंहटाएं
  43. guru ji..mera beta 7 mahine ka h.. jab se hua h maansik rog se pidit h.. panit bol rahe h ki shani vakriy h.. uski tabiyat aur bigadti jaa rahi h.. aap plz meri madad karein aur kuch upay bataein jisse mein uski raksha kar saku.. mere bete ki janam tithi.. 11 june 2015,. delhi.. 8.57AM

    उत्तर देंहटाएं
  44. guru ji meri date of birth 03-08-1966 time 04.40 am bikaner rajasthan sir mera jivan bahut sangrash puran h kya h karan bataye log mujh par vishvash nahi karte kam dhanda bhi khas nahi h

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. लग्न में मंगल शुक्र की युति आपके व्यक्तित्व को संदिग्ध बना देती है ,बालों को सीधी मांग निकालें आप। धूम्रपान त्याग दीजिये।धन के लिए योग इतने बुरे नहीं हैं जितना आप बता रहे हैं ,खर्च पर नियंत्रण करें ,आप ठेकेदारी के प्रकार का कार्य कीजिये ,प्रभु सहायक होंगे

      हटाएं
  45. guru ji mera lagan mithun hai shanidev lagan mein vakri shanidev ki mahadasha.

    उत्तर देंहटाएं
  46. guru ji pranam, maine apke sare post padhe jisse mere man me chal rahe kai prakar k brham dur hue( vakri grah k bare me) apne bahut sahi treke se samjhaya iske liye koti-2 naman, kirpya batay mera bhavisya aage kaisa h, nahi vyapar h, nahi job,name- kundan,dob-7.11.1960,b o time 19-00 bop-delhi

    उत्तर देंहटाएं
  47. guru ji pranam dob 9/8/1986,3:10am,indore (m.P).marriage kab tak hogi or life me success Kab milegi

    उत्तर देंहटाएं
  48. guru ji pranam.dob-9/8/1986,3:10 am, indore (M.P).shadi kab tak hogi or life me success kab milegi marg darshan kare

    उत्तर देंहटाएं
  49. Sir meri dob 12-01-1982 7.30 am jalandhar. Mera shukar grah vakri hai. Or meri shadi nai hui abi tuk so plz sujjest me kya kerna chahiye

    उत्तर देंहटाएं
  50. Lalit sir ji mera naam kuldeep singh chauhan hai,

    internet per kuch search kar rha tha Ki aapka blog mil gya bahut sundar sundar lekh hai aapke , logo Ki free sewa kar k aap bahut hi nek kaam kar rhe hai .


    meri dob- 1-121990
    05:35@m
    birth place - Lucknow hai


    main apne mata JI ki ikloti santan hu , parantu mere pita JI Ki pehli wife (jinki death ho chuki thi) se bhi 1 bhai - 2behene hai mujhse bade .

    meri high school tak to achchi (average) study rahi thi lekin inter se baar baar meri padayi disturb hui hai years gap hue hai , aur abhi me graduation kar rha hu , life me bas sab theek nhi hai jaise love affair me dikkat dhoka , padayi me break , job na milna , mummy papa ke jis pyaar ka adhikari tha wo na mil pana , paise nhi rehna , bahut logo se dushmani , etc.

    bas lalit JI yahi sab hai mera jeevan pichhle 3-4 saal se pooja karne laga tha thodi shanti aayi thi jeevan me lekin. fir abhi September 2015 se pata nhi kya hua Ki ekdum se saari pooja-paath band ho gyi. roj sochta hu Ki aaj se fir apni purani duty shuru karu lekin nhi ho pata hai.

    mujhko 3 baate poochhni hai Lalit sir JI

    1. to mujhko life me kuch success milegi bhi Ki nhi aur agar milegi to kis field me jane ki disha karu.

    2- mere paas 1 rupaya bhi nhi aa pata koi job nhi milti agar milti hai to turant chhoot jati hai ya fir jaise abhi January me hua Ki company hi bhaag gyi hum sabko paise diye bagair. iska koi upay , nivaran bataye.

    3 - mere mata pita JI Ke jitne bhi plot ya makan hai un sabhi me koi na koi vivaad hua karte hai to kya un property's ko mere apne naam rakhna theek rahega Ki mummy papa ke naam hi chalne de.


    sir meine orange moonga , moti , lohe ka chhalla, aur ek lower quality ka maanik pehna hua hai.

    kripya jald paramarsh dene Ki kripa kare . bahut jyada pareshan hu life se.

    aapka Aabhar.

    Jai MAHAKAAL

    उत्तर देंहटाएं
  51. Jai MAHAKAAL Lalit JI

    mera naam kuldeep singh chauhan hai ,
    main jeevan se tang bhi hu aur thoda sa santosh bhi hai ki kuch to hai hamare paas kuch to duniya main aise bhi hai jinke paas ye sab bhi nhi hai ,

    maata pita ka Muh dekhta hu warna ab tak shayad pran tyaag deta ,

    kuch kripa drishti hum per bhi dalne Ki kripa kare mahanubhaav ji ,

    jeb me 10 ki note bhi nhi rehti hai kya poora jeevan mata pita ji k sahare hi yapan karna padega ,
    koi job milti nhi Jo milti hai WO chhoot jati hai ya fir wo company hi bhaag jati hai , sir sarkari ya koi noukri KE yog hai Ki nhi agar nhi to apne jeevan ko kis disha me chalaymaan karu ,

    aur prem mein asafalta mili chuki hai , fir bhi ek sajjan ne bola tha ki prem vivah hi hoga iski 200% guarantee hai, kya aisa hai , waise parivar wale aur rishtedaar bhi vivah ke liye pressure daal rhe hai , parantu bina jeevika ke kaise vivah kar lu , kuch gyaani jano ka kehna hai ki vadhu apna bhagya lekar aati hai ho sakta hai Ki vivah ke baad bhagyauday ho jaye, kripya maarg prashast karne Ki mahaan kripalta kare .

    September 2015 ke bad se pooja-path me bhi man nhi lag rha hai bilkul bhi , pooja Ki or se dhyan ekdum se hat gya hai.

    waise meine 1 narangi moonga , 1 moti , 1 thoda rough quality KA ruby , aur lohe ka chhalla pehna hua hai.


    aapke lekh atyadhikh sundar aur gyaanvardhak hote hai is samaj sewa k liye bhi aapka bahut bahut dhanyavaad ,

    aabhar .....

    jai MAHAKAAL

    उत्तर देंहटाएं
  52. Dear sir,

    Greeting for the day !!

    My name is abhishek bansal.i facing vary mantel disordees,money related problum. i have full opperunity but i fail to crack it. kindly give me some suggetions.

    NAME ABHISHEK BANSAL
    DOB 21/03/1991
    PLACE FATEHABAD HARYANA
    TIME 02:27 PM

    उत्तर देंहटाएं
  53. Hello Sir,
    Namaskar, I have shown my kundli to lot of astrologers but the condition is same, I dont have a good job, I am suffering from lack of money, no importance at home and outside, always try to abuse lords not intentionally but the thoughts come by of its own, no career, not seeing any luck favour from a long time. My dob is 09-02-1973, time 13:05 place is khurja

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. विक्रम जी ,वृष लग्न में आप मेष राशि व अश्वनी नक्षत्र को धारण करते हैं..कुंडली को बहुत बुरा नहीं माना जा सकता..क्या आपकी परवरिश घर के अलावा कहीं और हुई है?साथ ही अपनी माता जी के विषय में बताएं...दाम्पत्य के लिए योग अवश्य खराब माना जा सकते हैं...साथ ही आयेश की पोजीशन भाग्य भाव में नीच है..अगर 2011 से 13 के मध्य विदेश नहीं गए हैं तो अगले वर्ष इसकी तैयारी रखिये..अपनी माता के विषय में बताइये..शनि का छल्ला धारण करें व कालसर्प दोष की शान्ति करवा गुरवार के व्रत करें..प्रभु अगले वर्ष तक हालात नियंत्रण में करेगें

      हटाएं
    2. Hello Sir,
      Namaskar, first of all apologise for replying so late as I was out of station and many thanks to throw light on my birth stars.
      Sir as you asked about my mother she is housewife, very hardworking, faced lot of struggle she is around 65 but now she is tensed as I lost my father last year and its very tough situation for my family. I have not gone to foreign in my life till now, now happy to see the time to have the journey.
      Sir I have one question my Rahu is place in eighth house with mars and in 2017 next year Rahu mahadasha will start, is it beneficial or malefic for me as Rahu is of Neech in this house and eighth house dont think to be good.
      Thanks again for your kind words and will do the remedies as you have said above

      हटाएं
    3. बुरा कभी बुरे के लिए बुरा नहीं करता ,इस सिद्धांत से आठवां राहु बुरा फल नहीं देता ,साथ ही ज्योतिष के जानकार जानते हैं कि वक्री ग्रह सदा अपना उल्टा असर देता है ,ऐसे में आठवें भाव में नीच राशि का राहु क्योंकि वक्री है अतः अपने उच्च प्रभाव देने के लिए माना जाएगा। ..यही राहु आपको बुलंदियों का स्पर्श कराएगा.... निश्चिंत रहें

      हटाएं
    4. Hello Sir,
      Namaskar, thank you very much on prompt reply, whenever I feel something off the line I will take your suggestions hope you will also help and guide me.
      Thanks again and my best regards and wishes are with you sir.

      हटाएं
  54. pandit ji sadar pranam,
    mera nam anil sharma hai
    tatha d.o.b.-16/07/1986 ,place- bhilai (chhattisgarh) hai.
    mai vartman me bahut pareshan hu ,
    khastaur se job k abhav me tatha manorog (o.c.d)=obsessive compulsive disorder k karan
    guruji kripaya samadhan batayein tatha job kab tak lagegi kripya kar batayein,kundali me yadi vakriya grah ho to kripaya kar batayein.
    aapke uttar ki aasha me
    Anil sharma.

    उत्तर देंहटाएं
  55. aadarniya pandit ji pranam,
    mera nam anil sharma hai
    dob 16/07/1986 ,place-bhilai (c.g.) hai.
    pandit ji mai job ke n hone tatha manorog(o.c.d.) ke karan pareshan hu,
    pandit ji kripya kar uchit samadhan batayein,tatha job kab tak lagegi kripaya batayein, tatha yadi vakri grah ho to upay batayein .
    dhanyawad

    उत्तर देंहटाएं
  56. guruji my dob- 02-09-1983,
    place of birth - sonipat ( haryana )
    time of birth - 18:20
    kripya mere vyapar sambandhi aur makan nirman sambandhi bataye.

    उत्तर देंहटाएं
  57. guru ji my date of birth 22-09-1991
    place - delhi north west
    time of birth - 10:45 pm

    meri marble & tiles ki shop h jisme mjhko bhari nukshan hua h guru g mjhko btao m kya kru jisse mera karj utar jaiye or mera karobar chle aisa koi upay bto ya meri koi sarkari nokri ka yog h to vo bi mjhko bto.....

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. दुकान के नाम को अपनी माता जी के नाम पर रखें ,अपने बोर्ड व विजिटिंग कार्ड पर माँ की तस्वीर छापें। आप नौकरी हेतु फाइनेंस , अथवा शिक्षण विभागों में प्रयास कर सकते हैं।

      हटाएं
  58. मेरे पति की कुंडली दोष का कोई उपाय बताए पंडित जी. हम बहुत परेशान है - पैसे की बहुत दिक्कत है -

    Date of birth - 1st August 1976
    Time - 01:05 am

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जन्म स्थान नहीं बताया आपने ,,, खैर..... नीलम धारण करें

      हटाएं
    2. नमस्कार गुरु जी,
      नाम : तुषार सक्सेना
      जन्मतिथि : ०१/०८/१९७६
      जन्मस्थान : ग़ज़िआबाद
      समय : ०१.०५ एम

      धन्यवाद् लेकिन अभी तो नीलम नहीं ले सकते कहीं से कुछ काम बनना शुरू हो तभी ले पाएंगे तब तक क्या कर सकते हैं.
      क्या आप बता सकते हैं समय कब तक ठीक होगा. कब से थोड़ा पैसा आना शुरू होगा ??

      हटाएं
    3. Guju ji Please suggest something here.. we are in big trouble..

      हटाएं
  59. Pandit ji mene apka blog bade dyan se padha hai our batein bahut sahi hona bhi paya hai ,actually mere janam samay per char grah ek saath vakriya the mera naam gopal dob 10-12-1975 tob 9:39:00 am pob rawatsar rajasthan hai kya aap mujhe kuch mere bare mein bata payege.

    उत्तर देंहटाएं
  60. Pandit ji meri dob 10-12-1975:tob 9:39:00am pob rawatar(rajasthan) hai tatha char grah vakriya hai krapya batein mera muje apne bhagya ko bdane ke liye kya karna chahiye.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आक का वृक्ष घर के पूर्वी हिस्से में लगाएं व उसकी सेवा करें

      हटाएं
  61. sir pranam, my name is Aparna, mai aapse astrology seekhna chahti hu..kya aap jyotish seekhate hai? plss kuch guide kare iss vishay mai??

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. देहरादून में यहाँ ज्योतिष कक्षाओं का बैच आरम्भ हो चुका है ,अब तो अगले वर्ष ही नया सत्र आरम्भ करेंगे। मुझे इस लायक समझने हेतु आभार ,,,,,,आप ज्योतिष सीखिए ,,,ज्योतिष सीखना कोई बहुत बड़ी बात नहीं है ,ग्रहों का नैसर्गिक व्यव्हार समझ कर अपने आस पास निगाह दौड़ाइए ,,,,, आपको जीवन में हर कदम पर ज्योतिष बिखरा मिलेगा ,,इसे पुस्तकों में मत तलाशिए ,,,,, सामान्य दृष्टि से इसे अधिक सहज रूप में देखा समझा जा सकता है ,,,,आप मेरे व्यक्तिगत नंबर 9639456457 पर कभी भी बेझिजक किसी भी प्रकार की मदद ले सकती हैं। .....

      हटाएं
  62. Dear sir,
    Currently i am pursuing my ba.llb. from national law university.
    My jupiter and mercury are retrogade.I want to ask that whether by opting for law i have chosen the correct path or not.My dob-05-06-1995 time -6:42 am.Birth place-Agra.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप बेहतर क्षेत्र में आगे आ रहे हैं ,प्रकृति ने भी आपके लिए इसी क्षेत्र का चयन किया है ,दशमांश ,नवमांश व लग्न का संयुक्त प्रभाव बताता है कि आप भविष्य में संपत्ति व फौजदारी आदि में महारत हासिल करें .... साथ ही इसके बाद आप इसी क्षेत्र में आगे के लिए भी प्रयासरत रहें ....

      हटाएं
  63. Damini Bhalerao mera dob:25/7/1986 aahe time:1:30pm birth place:pune muze government job milegi Kya mera 8 graha vakri hai unake liye upay bhatavo.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सूर्य चन्द्र कभी वक्रता को प्राप्त नहीं होते दामिनी जी ,,राहु केतु सदा वक्री रहते हैं ..... हाँ अन्य ग्रहों में शुक्र को छोड़ शेष ग्रह वक्री हैं ... ऐसी कुंडली कभी नहीं देखी मैंने ,वास्तव में विचित्र बात है......... खैर ...... दशम भाव तथा पंचम भाव पर दृष्टि डालते ही आपकी क्षमताओं का भान सहज ही हो जाता है बहन। हाँ प्रयास अधिक करने पड़ सकते हैं ,किन्तु आपका चयन श्रेष्ठ पद पर होना तय है.... सरकारी अधिकारी बनना आप भाग्य में लिखवाकर लाईं हैं। फरबरी 2016 से योग बनना आरम्भ हो गया है ,सम्भवतः इस वर्ष के अंत अथवा अगले वर्ष के आरम्भ में ही कहीं चयन हो जाएगा आपका। तब मेरी फीस व मिठाई भेज दीजिएगा याद से। पन्ना रत्न शीघ्र धारण कर लें

      हटाएं
  64. guru 11th house me agar vakri hoto?? meen lagna ki kundali me kumbh rashi me

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मीन लग्न में अगर गुरु एकादश भाव में होगा तो वह कुम्भ में नहीं मकर में विराजमान होना चाहिए ,कुमुद जी

      हटाएं
  65. namaskar gurudev

    Main sudhir meri kundali ke pratham ghar me rahu stith hai aur tula rashi hai isi kram me aap rashi samjh lijiyega, teesare ghar me surya,mangal aur budh hai, panchve ghar me shukra baitha hai, satve ghar me guru, chandra aur ketu hai aur dasve bhav me shani hai ishka kya phal hoga.kripya uttar de gurudev.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप मात्र अपने जन्म का विवरण देकर प्रश्न करते तो आपको उत्तर देने में सुविधा होती। ....

      हटाएं
  66. Guru Ji meri d o b 17/08/1988 hai janamsamay 6bajkar6min unnao uttarpradesh mushe sarkari naukri kab take milegi mughe kya karna hoga

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जन्म समय प्रातः अथवा सांयकालीन है ,ये आपने स्पष्ट नहीं किया

      हटाएं
    2. जन्म समय प्रातः अथवा सांयकालीन है ,ये आपने स्पष्ट नहीं किया

      हटाएं
  67. vinay dob 03-01-1977 kanpur right now struggling in life from money and business ,shani is vakri and guru too is any posibility of name ,fame ,wealth ,power and stability in business in coming future ,is shani mahadasha is favorable for me beside currently rest guru mahadasha will make any damage in my life ??

    उत्तर देंहटाएं
  68. Namaskar gurudev ji

    Mera name amit sharma dob 05-03-1981 tob 22.30 pm pob delhi.mein kuch time se pareshan hu kripya aage ka future bata deijye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. शुक्र के अस्त होने के कारण शनि की जो दशा आपको विदेशों के समीकरण उत्पन्न करने वाली होनी चाहिए थी ,वह पिछले वर्ष की गर्मियों से हताशा उत्पन्न करने लगी...आजकल बरसातों का मौसम गई..स्वाति नक्षत्र में बरसी बारिश की बूंदेंसहेज कर किसी बोतल में भरकर अपने पास रखें व द्वादश गुरु के लिए 10 अंधों को एक पंक्ति में बैठाकर भोजन कराएं..पैसे नहीं दें..नीलम सवा पांच रत्ती धारण करें...अगस्त 2016 से हालात करवट ले रहे हैं..बाहरी देशों व लोगों से संपर्क स्थापित होगा...

      हटाएं
  69. Kya muje government job milegi

    Name Vishal
    Dob 04/05/1992
    Time 13:05
    Rajkot gujarat

    उत्तर देंहटाएं
  70. Guruji kya Mike government job milagi?
    Name amit
    Dob 25/01/1988
    Time 07:05 am
    Place Rajkot Gujarat

    उत्तर देंहटाएं
  71. उत्तर
    1. यहाँ गुरु पूर्वभाद्रपद के चतुर्थ अथवा उत्तराभद्रपाद व रेवती के किसी भी चरण में हो सकता है..तीनो नक्षत्रों के स्वामी अलग अलग हैं तथा गुरु पर पड़ने वाले अन्य ग्रहों के प्रभावों व नवमांश में इसकी स्थिति के कारण अंतर आ जाता है..प्रत्येक ग्रह के आपरेट करने के 108 तरीके हैं कौर जी...बिना विश्लेषण के कुछ कहना ज्योतिष में नौसिखियेपन की निशानी होती है

      हटाएं
  72. Guruji mera name VISHAL he my d o b 4/5/1992 time 1/05 pm rajkot (Gujarat) he kya muje government job milegi

    उत्तर देंहटाएं
  73. उत्तर
    1. प्रयास करने से ,व विधिवत अध्ययन से कोई भी मनुष्य ज्योतिषी बन सकता है। .... बस आवश्यकता है तो समर्पण ,प्रेरणा व मन की पवित्रता की

      हटाएं
  74. Guruji mera name Amit he my d o b 25/1/1988 time 7/05 am rajkot (Gujarat) he makar lagna ki kundli me 12 ve bhav me shani he mere liye kon sa Ratna subha rahega

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ओपल रत्न धारण करना भविष्य में आपके लिए सुन्दर समीकरण उत्पन्न करने में सक्षम है

      हटाएं
  75. Guru ji mujme or mere pati me jaghade bahot vote hai or a jgada itna badha gaya hai k me apne pati se dur apne maaiyke me rahti hu or meri sasa sent meri nai banti or dusra k mera shani vakri ho gaya hai or guru nich ka hai to upay btae k mera pati or sasa sasur mujhe lene k liye aaye pyar se or sukhi sasar ho mera.

    उत्तर देंहटाएं
  76. Or meri date birth 23-05-1985 hai time 6:10am Vadodara or pati ki 12-08-1985 hai time 4:00 am Vadodara hai

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. घर में बोनसाई बरगद गमले में लगाइये व सोमवार के व्रत कीजिये। .प्रभु सहायक होंगे

      हटाएं
  77. Gurudev
    16/12/89
    19:44
    Sujangarh river (rajasthan )
    Pratham bhaav me guru vakri h
    2nd me chandr ko ketu ne grasit kiya hua h
    7 me sanI+surya+budh pitradosh laxit ho raa
    8th me sukra+ rahu h
    दिग्भ्रमित रहता हु। जो भी काम करू सफलता नही मिलती है । या फिर आधे बिच मे कार्य बदलना पड़ता है । करियर को लेकर परेशान हु। कृपया मार्गदर्शन करे।

    उत्तर देंहटाएं
  78. Guruji mera name Vishal. he my d o b. 4/5/1992 1/05 pm rajkot ( Gujarat) he muje kon se business me safalta milegi

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रॉपर्टी, होटल अथवा डिफेन्स संबंधी कार्य सफलता प्रदान करेंगे,....मूंगा रत्न धारण कीजिये...

      हटाएं
  79. Name :- Sushil
    Dob:-26/06/1986
    Time :-12.00 pm
    Birth Palace:-Lachhmangarh Sikar Rajasthan

    उत्तर देंहटाएं
  80. sir mera Date of Birth 27/4/1979 time 12:11 pm hai muktsar (Punjab)
    hai aaj tak zindgi me asaflta hi mili hai kya karan hai

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कर्क लग्न में धनु राशि व मूल नक्षत्र में आपका जन्म हुआ है। संजीव जी पहले भी कई बार बताया है कि कर्क राम का लग्न है मेरे मित्र ,,,राम का लग्न है तो वनवास तो भोगना ही होता है। लग्नेश चंद्र का छठे भाव में जाना समस्या का मुख्य कारण है ,, आप एक मूंगा रत्न धारण कीजिये ,व अपने कार्यस्थल अथवा घर में पूर्णिमा के चंद्र की तस्वीर समुद्र के किनारे वाली लगाइये , पूर्णिमा की रात्रि समुद्र के दर्शन कीजिये ,अगर सम्भव को तो रामेश्वरम एक बार हो आइये। प्रभु कल्याण करेंगे।

      हटाएं
  81. Sir Plz give advice on following ground

    Name : Swapnil
    Janm naam : Digmabar
    Date of Birth : 02/09/1986
    Time : Tuesday,9.25am
    Place : Nashik

    Meri kundali mein 11 sthan ka guru vakri he toh yeh shubh fal dega ya ashubh ! agar ashubh fal he toh iske upaay kya he kripaya batane ka kasht kare...

    उत्तर देंहटाएं
  82. Guruji Jai Shri Krishna..mera dob 25 May 1984,Mumbai,8.11 pm ko hua hai.Meri kundali(Vrischik Lagna) mein Guru dhanu rashi mein vakri hai,Shani aur mangal yuti tula rashi mein dono vakri hai.Kaisa phal milega mujhe?

    उत्तर देंहटाएं
  83. Name :- Sushil
    Dob:-26/06/1986
    Time :-12.00 pm
    Birth Palace:-Lachhmangarh Sikar Rajasthan

    उत्तर देंहटाएं
  84. sir,
    mera amit he
    dob :- 04/may/1989
    time :- 14:00
    birth place :- indore (m.p)
    kripya mujhe guide karen
    mera email id :- amitllwn07@yahoo.com
    thanks.

    उत्तर देंहटाएं
  85. Name :- Sushil
    Dob:-26/06/1986
    Time :-12.00 pm
    Birth Palace:-Lachhmangarh Sikar Rajasthan

    उत्तर देंहटाएं
  86. Pranam guruji mera name VISHAL he my d o b 4/5/1992 1/05 pm rajkot (Gujarat) he me kon sa ratna Dharan Kar sakta hu

    उत्तर देंहटाएं
  87. Name=Rahul
    DOB=12/12/1993
    Time=4:00 Pm
    Place=vadodara

    Muje Canada me apni padhai age badhani he aur M. Tech krna chahta hu . kya ye mere liye uchit rahega ? Canada Jane ke yog kab ban Rahe he mere ?

    उत्तर देंहटाएं
  88. pranam guruji
    my dob 24/01/1986 time 9:30am he.
    me shatru[enemies] se bahot pareshan hu hu.mere kisi k sath invald relations the uski vajah se meri jaan pr bn aayi he.
    plz help me guruji kya kru bahut pareshan hu........

    उत्तर देंहटाएं
  89. Guruji naskar, my date of birth 7th january 1961 he, time 18:43:00 or place new delhi, guruji financial position kabhi theek he nahi hui, mehnat bhi karti hun per result nahi aata he.

    उत्तर देंहटाएं
  90. Dob-12/12/1993
    Time-4:05 pm
    Palce-vadodara
    Name mehul

    Namaskar pandit ji.mene B.Tech ki padhai ki he aur me jan na chahta hu ke Muje sarkari naukri ya koi uchh adhikari ki naukri kab milegi

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मेहुल ,,वर्तमान मे समय बहुत अनुकूल नहीं है ,,,,अगले वर्ष अप्रैल के पश्चात आपके लिए विदेशी भूमि के रास्ते खुलते दिखाई दे रहे हैं ,,अभी माँ के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान देने की जरूरत है , अपने पैरों व आँखों का ख़याल रखें।कुंडली में ग्रहण दोष बड़ी कमजोरी कहा जा सकता है ,इसका उपचार करवाएं व माणिक मोती व पुखराज एक साथ धारण करें।

      हटाएं
  91. Dob-09/09/1976
    Time-13:50
    Palce-Delhi

    Name amr

    Namaskar pandit ji. mai computer ka kaam karta hoon khuch khas chal nahi raha. Mai ise change karna chahta hoon par change nahi kar pa raha hoon. bahut confuse hoon. Please aap mujhe bataye ki mujhe kya kaam karna chanhiye

    उत्तर देंहटाएं
  92. आप अपने अनुकूल व्यव्साय में हैं ,,किन्तु बदलाव चाहते हैं तो खान पान अथवा गारमेंट्स आदि का कार्य आपको माफिक आएगा। .... चूँकि आप केतु में राहु के अंतर का भोग इस काल में कर रहे हैं तो आपको चाहिए कि प्रातः 6 बजे से अपराह्न 12 बजे तक व सांय ४ बजे से रात्रि ८ बजे तक न तो अपने कार्यस्थल पर टीवी देखें न घर पर ,,न फोन आदि पर किसी सोशल साइट्स में इन्वोल्व रहें। एक पन्ना धारण कीजिये व बुआ को हरे वस्त्र उपहार दीजिये। प्रभु ने चाहा तो 90 दिनों में राह सूझेगी ,,,

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. bahut bahut dhanayvad apka. ek bat aur bta dijey, kya mai bua se advise le sakta hoon.

      हटाएं
  93. sir,
    mera amit he
    dob :- 04/may/1989
    time :- 14:00
    birth place :- indore (m.p)
    kripya mujhe guide karen
    thanks.

    उत्तर देंहटाएं
  94. गुरू जी,
    मेरी कन्या लग्न में गुरु शनिदेव के साथ विराजमान हैं, अगले कुछ हफ़्तों में गुरुदेव की महादशा आने को है, कृपया मार्गदर्शन करें, २०/१२/१९८०, ००:५५, बुलन्दशहर💐🙏💐

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. भाग्य में बैठे उच्चाभिलाषी आयेश चंद्र के नक्षत्र ने विराजमान केन्द्रस्थ गुरु,उत्पादन के स्वामी व मित्र राशिस्थ शनि के सहयोग से आय के नए साधनों,व्यवसायों आदि के समीकरण बनाते दिखेंगे...आप नए मकान वाहन व स्थिर संपत्ति का संचय करेंगे....गुरु में गुरु का अंतर संभवतः आपके संयम की परीक्षा ले ,किन्तु गुरु में शनि का अंतर ,आपको सफलता की गति प्रदान करेगा,इसमें कोई संदेह नहीं....

      हटाएं
  95. Paranam guruji me Mehul,reply dene ke Liye dhanyavad. Mera abhi videsh Jane ka man nahi he.me naukri Karna chahta hu.abhi Tak naukri nahi mili he.me bahot pareshan hu.kya meri kundali me sarkari naukri ke yog he?

    उत्तर देंहटाएं
  96. Pranam gurudev,meri D/O Birth 10.03.1991,Time-12.37p.m.(dopahar),place-alwar(rajasthan) hai.Mujhe sarkari noukari melegi ya nahi?.Agar melegi to kab tak,kripaya batayen.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको शिक्षण संस्थानों अथवा एडमिनिस्ट्रेटिव विभागों में प्रयास करना हितकर है ,,,,सरकारी नौकरी के सुंदर योग कुंडली में हैं। ... आप शीघ्र एक पुखराज धारण करें।

      हटाएं
  97. गुरू जी,
    मेरी मेष लग्न की कुंडली मे शनि देव ग्यारहवे स्थान में,लग्नेश भाग्य में,गुरु सप्तम स्थान मे और सूर्य+चंद्र+बुध+शुक्र+राहु की युति अष्टम स्थान में हे ।
    Dob-12/12/1993
    Time-15:00
    Place-Surat(Gujrat)
    क्या मेरी कुंडली मे सरकारी नौकरी के योग है ? अगर हे तो कब तक नौकरी मिल सकती है ? कृपया मार्गदर्शन कीजिये.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. संभवतः पहले आपको संविदा अथवा टेम्पररी बेस पर नौकरी करनी होगी ,किन्तु केतु में मंगल का अंतर सन 2018 के मार्च के बाद सरकारी नौकरी के योगों को पुष्ट करता दिखाई दे रहा है। माणिक अथवा पुखराज धारण करने से पहले से ही प्रभावित आपका दाम्पत्य भाव अधिक प्रभावित हो जाएगा ,अतः अंतिम विकल्प के रूप में मूंगा ही आस देता है,,आप मूंगा धारण करें

      हटाएं
    2. Guruji mene grahan dosh hetu rahu Ki santi pooja karvai he.aur sath hi manek bhi dharan kiya hua he.
      Rahu,ketu,chandra nich rashi ke he to Kya prabhav denge ? Aur navam bhav me 0 degree ka mangal athve ghar ke 26 degree ke surya se ast kaha ja sakta he ?

      हटाएं
  98. Guruji mene grahan dosh hetu rahu Ki santi pooja karvai he.aur sath hi manek bhi dharan kiya hua he.
    Rahu,ketu,chandra nich rashi ke he to Kya prabhav denge ? Aur navam bhav me 0 degree ka mangal athve ghar ke 26 degree ke surya se ast kaha ja sakta he ?

    उत्तर देंहटाएं
  99. guruji,
    mera naam amit he,
    meri date of birth-- 04/may/1989
    time -- 14:00 dopahar (guruvaar)
    place-- indore (m.p)
    guruji bahut mushkil me hu,
    income ke sadhan nahi he
    karja ho gaya he
    jamin jayedad ka mamla bhi hath nikal raha he
    bhaut pareshan hu
    kripya madad kare
    dhanyavaad

    उत्तर देंहटाएं
  100. अमित जी,जनवरी 2017 के बाद हालात तेजी से पलटा खाएंगे,,भाग्य में सूर्य उच्च हैं,,चिंतित न हों..शिक्षण,फाइनेंस व सूचना से जुड़े कार्य व्यवसाय लाभप्रद होंगे..आप सरकारी नौकरी में नहीं हैं ये हैरानी भरा है,,किन्तु इसके लिए नवमांश में सूर्य का शनि द्वारा प्रताड़ित होना माना जा सकता है,,आप मूंगा व माणिक धारण करें व घर के दक्षिणी कमरे में रहें... दुर्गा सप्तशती का पाठ करें..अगले वर्ष की दीपावली आपके जीवन के प्रकाश के दीपक भाग्य स्वयं जलायेगा,,

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. dhanyavad guruji,apne mere liye samay diya
      kya aap mere pitaji ki kundali bhi dekh sakte he
      vah realestate broker he lekin 3-4 saal se koi sauda nahi ho raha he,
      aakhir waqt pe saude tut jate he
      isliye vah bahut pareshan he
      pathri ka operation kuch din pahle hua he
      unki janam tarikh he-- 28/april/1957
      time-- 23:56 ravivar
      place-- indore (m.p)

      हटाएं
    2. guruji aapne 28 march ko rathore saab ko jo uttar diya wah mene pada
      mera shani bhi vakri he 20 degree
      pancve bhav me he, dhanu rashi me,
      guruji yah kya parinam dega,
      aur is se kaise fayeda le (matlab kese kaam kare ki yah shani laabh de ya)
      kripya margdarshan kare,
      (amit)

      हटाएं
  101. Name-Usha
    Dob-20/8/1976
    Time-6:00 am
    Place-Surat
    namaste guruji.
    Me bahot pareshan hu.meri tabiyat hamesha kharab rehti he.Financial condition bhi thik nahi he.Paisa tik nahi raha he aur mehnat bhi boht karni padti he.
    Kripiya sahayta kare.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. समय वाकई कष्टदायी है आपका ,मैं समझ सकता हूँ। कहते हुए संकोच होता है कि आगे समय अधिक परीक्षा लेने वाला है। आप शीघ्र एक मूंगा व माणिक ताँबे के लाकेट में धारण करें ,,काले रंग से परहेज करें। आदित्य ह्रदय श्रोत का पाठ नियमित करें व योग्य ब्राह्मणों द्वारा केरलीय विधि से कालसर्प की शान्ति करवाएं तथा नियमित सोमवार को शिव की स्तुति करें।

      हटाएं
    2. Upay Batane ke liye Dhanyavad guruji.
      Me Ek Akhri saval karna chahti hu.
      Mera bhagyoday Kab hoga ? Mere jivan me anukul Samay konsa Hoga ? Kya muje puri zindagi isi tarah sangharsh krna padega?

      हटाएं
  102. Name-Usha
    Dob-20/8/1976
    Time-6:00 am
    Place-Surat
    namaste guruji.
    Me bahot pareshan hu.meri tabiyat hamesha kharab rehti he.Financial condition bhi thik nahi he.Paisa tik nahi raha he aur mehnat bhi boht karni padti he.
    Kripiya sahayta kare.

    उत्तर देंहटाएं
  103. Name - Aryan
    d.o.b. 7september 1997
    time- 3.09 PM
    Place - Patna,Bihar
    sir meri kundali mae mangal aur shukra ko chod kar saare grah vakri hai......guru neech kaa ho ka dusre bhav mae vakri hai....wahi shani v vakri hai meen rahi mae....budh bhi vakri hai surya aur rahu k saath 9bhav mae....baak chandra aur mangal ek saath 11bhav mae hai sukra k saath....
    I am struggling alot sir please predict how my future will be

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इतना घुमाने से बेहतर होता कि आप अपना प्रश्न स्पष्ट रखते

      हटाएं
  104. D.O.B 7sept 1997
    Time 3.09PM
    Place - Patna
    How my career is going to be and i want to pursue education in foreign. Is it possible?

    उत्तर देंहटाएं
  105. sorry sir,
    My d.o.b 7september 1997
    Place Patna,Bihar
    Time 3.09PM
    Sir i am struggling alot ,how my career and education will be?

    उत्तर देंहटाएं
  106. Upay Batane ke liye Dhanyavad guruji.
    Me Ek Akhri saval karna chahti hu.
    Mera bhagyoday Kab hoga ? Mere jivan me anukul Samay konsa Hoga ?

    उत्तर देंहटाएं
  107. 16/12/89
    19:44
    Sujangarh river (rajasthan )
    Pratham bhaav me guru vakri h
    2nd me chandr ko ketu ne grasit kiya hua h
    7 me sanI+surya+budh pitradosh laxit ho raa
    8th me sukra+ rahu h
    दिग्भ्रमित रहता हु। जो भी काम करू सफलता नही मिलती है । या फिर आधे बिच मे कार्य बदलना पड़ता है । करियर को लेकर परेशान हु। कृपया मार्गदर्शन करे।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कुंडली वाकई कष्टकारी है मित्र ,किन्तु मात्र ३० वर्षायु तक ,,,,वर्र्माण में समय मारक भी चल रहा है। हालात २०१७ के सितम्बर माह के बाद बदलेंगे। आपको मकान, वाहन, पानी ,खनन,व भवन निर्माण में उपयोग होने वाली वस्तुओं का व्यापार उचित फल देगा। किन्तु सर्वप्रथम आप गुरुवार के ५१ व्रत नियम से रखिये। पीली मिठाई में अर्पित कीजिये व बाहर के खान पान से परहेज करिये। गंडमूल की शान्ति व पितृ दोष का पूजन योग्य आचार्यों द्वारा गंगा के तट पर केरलीय विधि से कराइये।इसी में ग्रहण शान्ति भी करा लीजियेगा ,, आपके पिता के भाई बहनो की अल्पायु का दोष आप भुगत रहे हैं।

      हटाएं
  108. Nameste guruji.
    Mera ek saval he.
    Mesh Lagn ki kundali me Lagnesh mangal 0°33' degree ke hokar Agar 9th House me ho to kya vo Achhe result de sakenge ?
    0°33 degree ka lagnesh kya prabhav dega bhagya bhav me.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप अपनी जन्मतिथि बताकर स्पष्ट प्रश्न करते तो बेहतर रहता। .. जिस प्रकार का प्रश्न आपका है उसमे नवमांश ,षड्बल ,उदय अस्त,वक्री मार्गी ,दृष्टि,योग आदि द्वारा कई समीकरण प्राप्त होते हैं ,,,अतः ऐसे में कुछ भी कह पाना कठिन है

      हटाएं
  109. guru g Pranam,
    Name - Arya
    mera date of birth hai 7/09/1997
    Time-3.09PM
    Place- Patna,Bihar
    kripya kar guru g disha dikhaye.Mai software engineering krna chahta hu par aur exams qualify karne ke baad bhi kuch wajah se mae college nahi jaa saka. ,,,,guru g margdarshan de kripya kar ki aage ka career kaisa rahega mera.

    उत्तर देंहटाएं
  110. Dob-12-12-1993
    time-4:00 Pm
    Place-Vadodara
    Namaskar Guruji

    meri kundali me Mangal aur Shani kya prabhav denge? Mangal Lagnesh hokar 0°33' Degree ka he.kya Mangal me Achha result dene ki capability he ya nahi ??


    उत्तर देंहटाएं
  111. Dob-12/12/1993
    Time-16:00
    Place-Vadodara,Gujarat

    Pranam Guruji
    Meri is kundali me 0°33' Degree ka
    Lagnesh mangal Achhe result dene ke liye capable he ?
    Surya se uska antar bhi kam he.
    Krupya Margdarshan kare.

    उत्तर देंहटाएं
  112. Dob-12/12/1993
    Time-16:00
    Place-Vadodara
    Namaskar Guruji.
    Meri kundali me 0°33' degree ka lagnesh
    Mangal 9th House me Achha result dene ke liye capable he ?
    Aur kya 11th House ke Shani dev shubh karak he?

    उत्तर देंहटाएं
  113. Name-Hetal
    DOB-13/12/1995
    Time-12:05 AM
    Place-Surat
    Sadar Pranam Gurudev
    Me apne lagn jivan ke bare me jan na chahti hu.kya mera future husbsnd Gunvan aur Achha admin Hoga ya nahi ?

    उत्तर देंहटाएं
  114. Guru Ji Sadar Pranad
    D.O.B. - 18.02.1976
    B.O.T. - 06:05 P.M.
    B.O.P. - Muzaffarpur (Bihar)

    Mai Abhi Karz Me Dooba Hoon..... Meri Arthik Sthiti Thik Kab Hogi....
    Mera Zameen evam Makaan hoga ya naheen....
    Kripya Kar Upay Bataye.........

    उत्तर देंहटाएं
  115. मकर लग्न मे वक्री शनी लग्न मे विराजमान हो तो इस का क्या प्रभाव हो सकता है

    उत्तर देंहटाएं
  116. Guruji mera name VISHAL he my d o b 4/5/1992 time 1/05 pm rajkot Gujarat he mere liye kon ka kam sahi rahega kripya batie

    उत्तर देंहटाएं
  117. guru ji pranam
    name divyanshu pandey
    dob 20 march 1984
    time 4 am
    place kanpur(uttar pradesh)

    pandit ji mere bhavishya,business and shadi kae bare mae kuch prakash daliye jo ki honi hae

    उत्तर देंहटाएं
  118. Guru ji meri beti ka janm 25-3-17 ko subah 4:23 me huaa h. Iska kumbh lagna h or sukra min me bakri h or guru aathwe ghar me kanya me bakri h. Iska kya parinam ho sakta h upay batane ka kast kren. Tatha dusre bhawesh me budh ka nich vang v huaa h.

    उत्तर देंहटाएं
  119. guru ji my date of birth 20-10-1975
    time 7:52 evening
    bulandshar

    guru ji paisa bhut kamaya sab chala gaya aur ghar mai khas taur par patni sai samman nhi milta.plz remedies batai.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. समस्या का सारा ठीकरा आप अपने जीवनसाथी के सिर नही फोड़ सकते बंधु,,,,आपकी बहुत सी आदतें आपके विरुद्ध चली गईं...आप अपना प्रभाव कायम नही रख पाए....समय अभी भी हाथ से नही निकला है...जिद त्यागिये व वास्तविकता को मंजूर कीजिये....भाग्य जीवनसाथी के जरिये ही खुलना खुलना है आपका....मनोरंजन के साधन,,कॉस्मॉटिक,, कपड़े,,,,आदि पर कार्य करें....कंस्ट्रक्शन का कार्य कीजिये,,,लोहे पर दांव खेलिए,,,,,लोहा ही आपको आपका रुतबा वापस दिलवाएगा,,,,जिस लोहे को हाथ लगाएंगे वो सोना बनेगा आपके लिए..जो भी कार्य कीजिये ,,जीवन साथी के नाम से कीजिये....शीघ सबकुछ आपके नियंत्रण में होगा..

      हटाएं
  120. URVISHA I PATEL
    B.DATE 22/11/1972
    B.TIME 16.13
    B.PLACE ANAND
    MESH LAGNA ME SHANI SECOND HOUSE ME VRISHABH KA VAKRI HE OR SHANI KIS HI VISHOTTARI DASHA CHAL RAHI HE TO VAKRI SHANI MERE LIYE KESA PHAL DEGA?
    GURUJI KRUPAYA UTTAR DE.

    उत्तर देंहटाएं
  121. Shir g meri kundli me guru 8 ka ho kr 3 house me vakri ho kr beetha hai.kya phal dega.

    उत्तर देंहटाएं
  122. Name: Ashok
    Date: 28/12/1990
    Time: 13:50
    Place: Deshnoke (Raj)

    Guruji krupaya bataye ki me kaun hu. or me haste huve marunga ki rote huve marunga

    उत्तर देंहटाएं
  123. guruji,
    mera naam amit he,
    date of birth-- 04/may/1989
    time -- 14:00 dopahar (guruvaar)
    place-- indore (m.p)
    guruji mere liye kis grah se related business accha rahega
    mujhe business ke bare me koi sahi guide karne wala nahi milta,

    उत्तर देंहटाएं
  124. AGAR KARK lagn ke jatak ka mangal vakri ho kar 11 ve bhav me baith gaya to vo kaise fal dega? shubh ya ashubh? sir please guide

    उत्तर देंहटाएं
  125. Guruji,meri kundli MEI Jupiter 11 house mei Mithun rashi ka hai.yeh mere liye subh ya asubh hai

    उत्तर देंहटाएं
  126. Article is good. But is it true that, Jupiter Mahadasha gives all around sucess in life beacuse this planets not givesstrong results only even it balance your chart as well.
    see more - https://bit.ly/2HwafL1

    उत्तर देंहटाएं
  127. JASBIR SINGH

    D.O.BIRTH : 01-09-1962

    VAKRI SHANI MAIN SHANI KI DASHA HAI. BUSINESS MAIN VERY LOSS. AGLA TIME KAISE KAI ?

    उत्तर देंहटाएं
  128. Tula lagna ki kundali me chaturtha bhav me 6 degree 53 minute ka shani vakri h.. aur 10th bhav me 27 degree 21 minute ka shukra vakri h. Kya marg-darshan kre. Dhanyawaad.. 🙏🙏

    उत्तर देंहटाएं