Google+ Followers

सोमवार, 12 दिसंबर 2011

राज योग. Rajyog




(आपके द्वारा ब्लॉग पर दिखाए विज्ञापन पर एक क्लिक से  हमारी संस्था द्वारा धर्मार्थ कार्यों पर १ रुपैये  योगदान होता है। पुण्य में अपरोक्ष रूप से आपका सहयोग ही सही ,क्या पता कहाँ आपके काम आ जाय …कृपया ऐड पर क्लिक करें)
              ज्योतिष में कई योगों का उल्लेख मिलता है.इनमे से कुछ साधारण श्रेणी के एवं कुछ  बेहतरीन माने गए हैं .आज उन्ही में से कुछ योगों पर चर्चा करते हैं .आपने  गजकेसरी  योग के बारे में तो सुना ही होगा.देव गुरु ब्रहस्पति और चंद्रमा यदि कुंडली में कही भी एक साथ विराजमान हों तो इस योग का सृजन माना गया है.यह योग अपने आप में जातक के चरित्र की गारंटी होता है.ऐसा योग रखने वाला मानुष  चालबाज फरेबी नहीं हो सकता.पाप कर्मों द्वारा धन कमाने वाला,किसी का हक मारने वाला न होकर धार्मिक प्रवत्ति का होता है.ऐसे जातक भावुक होकर सदैव दूसरों द्वारा भावनात्मक रूप से ठगा  जाता है.किन्तु अपने फलित होने की अवस्था में इस योग के फलस्वरूप जातक लक्ष्मी व ऐश्वर्य का प्रबल सुख भोगता है.मकान वाहन जमीन व सम्मान उसे प्राप्त होता है.इस योग में आवश्यक है की गुरु व चंद्रमा दोनों कारक हों व किसी पाप प्रभाव में न हों .वृश्चिक  व मीन लग्न में यदि ये योग केंद्र-त्रिकोण में बनता हो तो अत्याधिक प्रभावशाली माना गया है.
                        पांच योगों का एक समूह पञ्च महापुरुष योगों के नाम से बड़ा प्रसिद्ध है.१.रूचक  २.भद्र  ३.हंस  ४.मालव्य  ५. शश. केंद्र में कहीं भी क्रमश: मंगल,बुध,गुरु,शुक्र व शनि के अपनी उच्च या स्व राशि में होने से इन योगों का सृजन होता है. भूमिपुत्र मंगल द्वारा बनने वाला  रूचक योग कर्क व सिंह लग्न  में अधिक प्रभावी होता  हैं.इस योग के जातक बड़े हिम्मती .ताकतवर व नेतृत्व् क्षमता से परिपूर्ण होते हैं .यह योग जातक को सेना,मेडिकल व मेकानिकल आदि से सम्बंधित क्षेत्रों में सफल करता है.
             भद्र बुध ग्रह का योग है.यदि पूर्ण प्रभावी हो तो इस योग के फलस्वरूप जातक नेतागिरी,अध्यापन,बैंकिंग व ऐसे कार्यों में सफल होते हैं जहाँ बोलने की क्षमता का उपयोग होता हो.यदि बुध पर कोई पाप प्रभाव न हो तथा गुरु का शुभ सहयोग इसे मिल रहा हो तो जातक का भाषा पर बेहतरीन नियंत्रण होता है.कन्या व मिथुन लग्न में यह योग विशेष रूप से प्रभावी देखा गया है.
           हंस योग की  देवगुरु ब्रहस्पति के द्वारा उत्पत्ति मानी गयी है.यदि गुरु कारक  हो व अशुभ प्रभाव में न हो तो यह योग पूर्ण फलित होता है. सुंदर शरीर का मालिक,स्त्रियों में  विशेष रुचि रखने वाला,परम सौभाग्यशाली ऐसा जातक जीवन में  उच्च पद व सम्मान का अधिकारी बनता है.मेष,धनु व मीन लग्न में अपनी दशा अन्तर्दशा में यह योग विशेष फल देता है.
                     अब बात करें मालव्य योग की. दैत्याचार्य शुक्र द्वारा फलित होने वाला यह योग कन्या,मकर व्  कुम्भ लग्न में विशेष रूप से प्रभावकारी होता है.शुक्र भोग विलास ,इच्छाओं की पूर्ति करने वाला ग्रह है.यदि यह योग अपनी पूर्ण शुभावस्था में हो ,तो ये सुनिश्चत कर देता है की  अपने जीवनकाल में जातक परम सुख-सुविधाएँ ,स्त्रियों का पूर्ण सुख ,प्राप्त करेगा.जातक अपने जीवन में कई स्त्रियों को भोगने का सौभाग्य प्राप्त करता है.पञ्च महापुरुष योगों में अंतिम योग है शश योग ,जो की शनि महाराज केंद्र में बनाते हैं.मकर,वृष व् तुला लग्न में विशेष रूप से प्रभावकारी यह योग जातक को तकनीकी कामों में माहिर,गणित का ज्ञाता,कविता पाठ में रुचि लेने वाला व् अपने फलित होने के समयकाल में सरकार में उच्चपदासीन करता है.फिलहाल इतना ही,आने वाले समय में कुछ और योगों के बारे में बताने का प्रयास करूँगा.  प्रणाम
  ( आपसे प्रार्थना है कि  कृपया लेख में दिखने वाले विज्ञापन पर अवश्य क्लिक करें ,इससे प्राप्त आय मेरे द्वारा धर्मार्थ कार्यों पर ही खर्च होती है। अतः आप भी पुण्य के भागीदार बने   )

508 टिप्‍पणियां:

  1. Namaskat Pndt.Ji

    Pehle to app ko is gyanwardhak Blog ke liye sadhuwad.

    kya main jaan sakta hun ki agar kisis ki kundli mein Rajyog ho to kya us ka anumanit(approximate) samay pata kar sakte hain.

    Ajay Anand Mathur
    Nagpur

    उत्तर देंहटाएं
  2. ajay jee,yadi kundali ka nirmaan sahi hua ho to aap mata saraswati ki kripa se anumanit to kya us yog ke phalit hone ka sateek samay bhi bata sakte hain

    उत्तर देंहटाएं
  3. antosh pusadkar

    आप ने जो बताया सही है. आप को धन्यवाद करता हू.शुक्र की महादशा १३ ऑक्ट २००९ सुरु हो गायी है.कन्या लग्न कुंडली है. केतू दिव्तीय मै , शनी तृतीय ,गुरु पंचम बुध शुक्र.चंद्र सप्तम मै , रवी राहू अष्टम मै. मंगल नअवं मै है कोनसा रतन पाहणा पडेगा . कृपया मागदर्शन करे

    उत्तर देंहटाएं
  4. मालव्या योग के बरे मी बतावो

    उत्तर देंहटाएं
  5. संतोष जी मालव्य योग के बारे में तो बता ही चूका हूँ इस लेख में.शुक्र द्वारा केंद्र में स्वराशी अथवा उच्च होने से इस योग का निर्माण होता है.जातक अच्छा खाने पीने पहनने का इच्छुक होता है. कहते है की जिसकी कुंडली में ये योग होता है वह चाहे उधार मांगकर घी पिए किन्तु पाटा अवश्य है.शुक्र को भोग विलास का कारक कहा गया है .अततः जहाँ भी यह योग बनता है वहां देर से ही सही किन्तु जातक संसार के लगभग सभी सुखों को भोगता है.यदि कुंडली में शुक्र कारक होकर उभर रहा है तो इस योग को हजारों बुरे दुर्योग भी कमजोर नहीं कर सकते.अपनी दशा अन्तर्दशा में शुक्र देव जातक की झोली में संसार का सारा ऐश्वर्य डाल देते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. shukra ki mahadasha to 20 saal ki hoti hai. shukra mai shukra ki antardasha khatam ho gayi per kuch saphlta haath nahi aayi.shukra deo ko kaise manaye. jo sare sukh pradan karenga. sukra mai konsi anterdasha ssukh deti hai.

      हटाएं
    2. संतोष जी ,कन्या लग्न की आप की कुंडली है.सप्तम में शुक्र वक्री हो रहा है.आप ध्यान दें की कन्या लग्न में शुक्र की दो राशियाँ क्रमश: द्वितीय व नवं भाव की अधिपति होती हैं.अब यहाँ पर गौर करने वाली बात यह है की शुक्र वक्री हैं.साथ ही धन भाव से षडास्टक का योग बना रहे हैं.किन्तु भाग्य भाव से ये आय भाव में विराजमान हो रहे हैं.अततः मालव्य योग के लिए आवश्यक हो जाता है की कार्य व्यवसाय के लिए जीवन साथी के नाम का उपयोग किया जाय.सप्तमेश स्वयं अपने से आय भाव में बैठ कर एकादश यानि निरंतर आय के भाव में अपनी उच्च की राशि को देख रहा है.किन्तु अभी सूर्य की दशा बहुत आशाजनक नहीं दिखाई पड़ रही.अभी एक साल से अधिक समय लग सकता है.किन्तु इस बीच सूर्य का अंतर वाहन सुख या पैतृक धन सम्पदा में से कुछ दिला दे तो कोई हैरानी नहीं.भाग्योदय ३२ वें वर्ष के बाद ही होगा.

      हटाएं
    3. guruji pranaam , lekin shaadi to 2-3 saal nahi karni hai. mera love /arrenge kya ho sakta hai. kab jivan sathi aane ka yog hai.

      हटाएं
    4. शुक्र में चन्द्र का अंतर विवाह के योग बना सकता है.हालांकि विवाह का योग लगभग दो साल पहले भी बना होगा.फिर भी गुरु के कर्क राशि में आने पर भी विवाह योग आपके लिए बनेगा.

      हटाएं
  6. kanya lagna ki kundali mai 11 th house moon bhadahk hota hai. budha aur sukra ka shatru chandra hai. agar yeh tino graho ki yuti saptam ho to kya phal denge.

    उत्तर देंहटाएं
  7. इस युति से संकेत मिलता है की जातक का भाग्योदय विवाह के पश्चात होता है साथ ही जीवन साथी उसे आर्थिक रूप से सहायक होता है अर्थात नौकरी आदि करने वाला होता है.कुंडली देखते समय मात्र नैसर्गिक मैत्री को ध्यान में रखकर गणना करने वाला ज्योतिषी गच्चा खा सकता है.यहाँ तत्काल मैत्री व नैसर्गिक मैत्री के बाद पंचधा मैत्री को देखना सही फलित करने में सहायक होता है.

    उत्तर देंहटाएं
  8. उत्तर
    1. षडास्टक का योग nahi samja guruji

      हटाएं
    2. संतोष जी, कोई भी ग्रह जब अपने से छठे या आठवें भाव में चला जाता है तो इसे षडास्टक कहा जाता है.इस योग के फलस्वरूप ग्रह प्रबल होने के बावजूद शुभ फल देने में चूक जाता है.यह योग कई शुभ योगों को साधारण स्तर का बना देता है

      हटाएं
  9. Pandit ji sadar pranam,
    Mera naam Ramkumar ahir
    Janm - 20 feb ,1987
    Samay- 00:11 am
    Sthan- Jalna Maharashtra
    Aap meri kundali dekhe mai rajyog aur sampatti ke baare me jaan sakta hu ...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. राजकुमार जी ,यूँ तो आपकी कुंडली में रुचक.बुधादित्य आदि योग दिखाई पड़ रहे हैं,किन्तु यदि व्यक्तिगत रूप से मैं किसी योग को प्रबल पा रहा हूँ तो वह सुखेश का धन भाव में बैठकर धनेश द्वारा देखा जाना है.अपने विवाह के पश्चात सन २०१९-२०२१ के मध्य आप इस योग सर्वोत्तम फल प्राप्त करेंगे.अपने कार्य-व्यवसाय व अपने ससुराल पक्ष की सहायता से आप आर्थिक रूप से चरम सुख (मकान -वाहन आदि) प्राप्त करेंगे.आपकी स्थायी संपत्ति में विवाह के बाद शानदार बढ़ोतरी होगी.३२ वें वर्ष तक आप हो सकता है की स्वयं को उस स्थिति में ना पा रहे हों किन्तु विश्वास रखें ,धन की आपके जीवन में कदापि कोई कमी नहीं रहेगी.मेरी शुभ कामनाएं.

      हटाएं
  10. 12/8/1977,2.15 am ,agra
    guruji plz mere kaam ke baare mai bathaiye plz guruji..

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बेनामी जी ,यदि अध्ययन ,शिक्षण आदि से सम्बंधित कार्य ,फैसन-डिजायनिंग ,या होटल लाइन से सम्बंधित कोई कार्य करें व साथ साथ गुरु को प्रबल कर कालसर्प दोष का उपाय कर लिया जाय तो बेहतर रिसल्ट आने की संभावनाएं हैं.वर्तमान में बुध में बुध का अंतर बहुत अधिक मेहनत व भटकाव दे सकता है,सन २०१४ के पश्चात बुध में केतु (जो स्वयं बुध ही के नक्षत्र में दशम भाव में विराजमान है) कार्य स्थान से सम्बंधित समस्याओं का निपटारा कर देगा.वर्तमान में व्ययेश के नक्षत्र में विराजमान लग्नेश आय से अधिक खर्च,व की गयी मेहनत को बर्बाद करने का काम कर सकता है.किन्तु आगे भविष्य सुखद होगा.उपाय कर लें..

      हटाएं
    2. kya upay karu bataeye.niptara ker dega matlab..

      हटाएं
  11. Guru ji pranam
    mera naam ankit hai,dob 13 august1993 hai 11:10AM place-BASTI, UTTAR PRADESH
    GURU JI MAIN HAMESHA PARESHAAN REHTA HOON, KABHI KABHI MERA MAN SUICIDE KARNE KO KEHTA HAI.
    KRIPYA MUJHE MERE FUTURE KE BAARE ME BATAYEN AUR MERI KUNDLI ME SARKARI NAUKRI HAI YA NAHI..MERI KUNDLI ME KAUN KAUN SE YOGA HAI.
    PLZ.BATAYE

    उत्तर देंहटाएं
  12. my dob 12/8/1977 place agra ....guruji mai to ghar banane ka kaam karta hu builder hu.mere ko bataya hai meri kundli mai gajkeshri yog hai aur rajyog hai .lekin abhi mera kaam bilkul band ho gaya hai kabhi kabhi suicide karne ka man karta hai .......plz reply kiziye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. यही समझाने का प्रयास कर रहा हूँ.की आप अपने दशमेश की प्रवृति के विरुद्ध कार्य कर रहे हैं.अधिक समझने के लिए मेरे पुराने ब्लॉग "कहाँ से आता है पैसा"व तमाम परिश्रम के बाद भी सफलता क्यों नहीं,पर नजर डाल सकते हैं.ठेकेदारी का काम आप के लिए उपयुक्त नहीं है.यह आपके दशमेश की प्रवृत्ति के विपरीत है.इसीलिए समस्याएँ आ रही हैं.पिता के कारोबार को ही आगे बढ़ा लेना या किसी यार मित्र के साथ जुड़ जाना ही सदा सही निर्णय नहीं होता.काम वही बेहतर है जो पहले बता चुका हूँ. जहाँ तक गजकेसरी योग की बात है मैं आज की तारीख में इसे बहुत महत्वपूर्ण नहीं मानता .यह वाहन आदि का सुख देता है जो आज एक सामान्य बात है.इसके विपरीत जो हानि इस योग के द्वारा देखि जा सकती है वह यह की जातक चतुर नहीं हो पाता और सदा लिहाज में मारा जाता है. झिझक के कारण कई बार स्वयं का नुकसान उठा लेता है.जान समझ कर भी ठगा जाता है.सीधा होना अच्छी बात है किन्तु आपके इसी सीधेपन का फायदा उठा कर कोई आपका नुकसान कर दे, ये तो अकलमंदी नहीं है.

      हटाएं
  13. My name Rupesh .DOB 23/04/1989 ,time 2.10 am ,place -jaishalmer (Rajsthan ) mera time abhi acha nhi chal rha h guruji mujhe koi acha sa upay bataye or mere career k bare me bteye kya me koi government job kar paunga .

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. रूपेश जी ,फिलहाल शनि में गुरु की अन्तर्दशा चल रही है.मकर लग्न के लिए ये दशा मेहनत को व्यर्थ करने वाली कही गयी है.सन २०१४ में आप मनचाहा पा लेंगे.अर्धसरकारी नौकरी के सुन्दर योग हैं.पोलोटेक्निक ,आई.टी.आई आदि कोई कोर्स करना बेहतर रहेगा.इसी के जरिये सुन्दर नौकरी प्राप्त होगी.किसी भी ऐसे क्षेत्र में जहाँ सीधा जनता से जुड़ना पड़े,जैसे शिक्षा,बैंक ,डाकघर ,बीमा ,रोडवेज ,नगर पालिका,आदि के योग आपके बनते हैं.जीवन में किसी न किसी दौर में आपका काम आखिरकार बिजली -पानी आदि से सम्बंधित हो जाएगा. पन्ना रत्न धारण कर सकते है तो करें व बारह गुरुवार बंदरों को केले खिलाना भी शुभ फल देगा.समय का इंतज़ार करें.भविष्य उज्ज्वल है.चिंता की कोई बात नहीं है.मेरी शुभकामनाएं.....

      हटाएं
  14. pandit ji, namaskar.
    mujhe budha+chandrama se banne wale yog ke bare me janna hai.
    aur uske upaay.
    please help.
    thankyou.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मोहित जी ,बुध व चंद्रमा की युति किसी विशेष प्रकार के योग को जन्म नहीं देती किन्तु फिर भी पूर्ण रूप से कुंडली का अवलोकन करने के बाद ही कुछ कहना उचित है।साधारनतया यदि अन्य कारण भी बन रहे हों तो चन्द्र व बुध अस्थमा या सांस आदि से सम्बंधित कोई रोग देने के लिए माने जाते हैं।परिवार में यदि पहले किसी को अस्थमा रहा हो तो चांस अधिक हो जाते हैं .विशेष परिस्तिथि में इस योग के द्वारा माँ द्वारा बुआ की सेवा को भी माना जाता है।

      हटाएं
  15. panditji namaskar, mere beta ki dob 9/11/2012 hai time 5.52 a.m hai place agra hai.panditji plz aap mere bete ke baare mai bataiye iski health aur ye humare parivaar ke liye kaisa hai plz

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बालक को पीलिया से बचाएं।शनि व सूर्य की लग्न में युति दिमागी बुखार आदि का कारण बन सकती है।लग्न में ऐसा योग जीवन में कभी सर से सम्बंधित समस्या का कारन बन सकता है।बुध गुरु दोनों का वक्री होना सांस ,कफ्फ ,व फेफड़ों को संक्रमित करेगी।यदि संभव हो तो कुछ दिनों बच्चे के दोनों पैरों में सफ़ेद धागा बांधें।पिता की कुंडली में यदि सहायक योग हुआ तो नीच भंग योग आमने वाले समय में प्रमोशन आदि में शुरूआती रुकावटों के बाद भी पिता को उच्पदासीन करेगा।

      हटाएं
  16. nameste panditji,meri dob-16/12/1978 hai time-4.55a.m hai place agra hai......mai india se bahar rahti hu meri shadi ho chuki hai mera 8 saal ka ek beta hai dusra bacha hone wala hai bhagwan ki kripa se sab thik hai...lekin mera man bahut bachen rahta hai man mai hamesha dar laga rahta hai ki mere bete ko ya mere pati ko kuch ho na jaaye...mai shivji ki bahut puja karti hu..panditji kya hum kabhi india shift ho payenge kya...meri life mai sab thik rahega na...mere is dar ko dur karne ka koi upay bataiye plz

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. चंद्रमा का अष्टम में राहु के नक्षत्र में होना व अष्टमेश का लग्न में होना ही इस प्रकार के डर का कारण माना जाता है।दशम भाव में राहु-शनि की युति भी इस में सहायक बनी है।मानिक रत्न सवा पांच रत्ती ताम्बे में धारण करें।सोते समय सिरहाने के पास पानी का भरा लोटा रखें जिसे सुबह किसी पेड़ पर चढ़ा दें।माँ गौरी की उपासना करें।आप तो त्रिनेत्र धारी नीलकंठ महादेव की उपासक हैं।भला जो स्वयं शिव का उपासक है उसे किस बात का डर हो सकता है। सदा महामृतुन्जय मन्त्र का जाप करते रहें।कल्याण होगा।आप जरूर अपने देश लौटेंगी।

      हटाएं
  17. nameste panditji, kal mera bhatija hua hai panditji wo bahut serious hai uski dob-10/12/2012,time 11.18 p.m,agra hai...usko i.c.u mai rakha gaya hai plz panditji koi upay batao ki wo bach jaaye..plz jaldi ans dijiye ghar mai sab bahut pareshan hai

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सिंह लग्न में तुला राशि के स्वाति नक्षत्र में आपके भतीजे का जन्म हुआ है।इस लग्न में राहू में चंद्रमा का अंतर कष्टदायी कहा गया है .वक्री होकर अष्टमेश गुरु की चतुर्थ भावस्थ लग्नेश पर दृष्टि व राहू की वहां उपस्थिति ग्रहण योग का निर्माण कर गयी।फलस्वरूप सांस, पीलिया सम्बन्धी ,गले में नाल का उलझाना व गंदे पानी का प्रवेश शरीर में कर जाने के लक्षण प्रतीत हो रहे हैं ,सात गोमती चक्र बच्चे के सर से छुआकर विष्णु जी के चरणों में रख दें व माँ के पास का कोई भी चांदी का जेवर बालक के सिरहाने के नीचे रख दें।मानस में कहा गया है की "हानि लाभ जीवन मरण ,जस अपजस विधि हाथ".अर्थात ये विषय विधि के आधीन हैं।चंद्रमा राहू के नक्षत्र में व राहू स्वयं अष्टमेश के नक्षत्र में विराजमान होने से अवस्था जटिल हो जाती है,किन्तु अपने परम प्रिय मित्र की राशि में पूर्ण अंशों में विराजमान लग्नेश सूर्यदेव चमत्कार करने में सक्षम हों ऐसी प्रार्थना हम सभी को करनी चाहिए। आगे की स्थिति से सूचित अवश्य करें।ईश्वर बालक का रक्षक बने ............आशीर्वाद।

      11 दिसम्बर 2012 2:57 am

      हटाएं
  18. nameste panditji,mera bhatija nahi raha...upay karne ka samay hi nahi mil paya

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ईश्वर की यही इच्छा थी।प्राण सदा चलायमान हैं।अततः अभी तक बालक कहीं किसी और रूप में जन्म ले चुका होगा।माता को संबल दें।जिसने दिया था उसी ने वापस ले लिया।वो जो भी करेगा बेहतर करेगा।बिजली एक ही स्थान पर बार बार नहीं गिरती।अतः अगली बार चक्रपाणी विष्णु स्वयं आपके रक्षक होंगे।

      हटाएं
  19. My name devendra.DOB 04/01/1990,time 5.30 am ,place -Bharatpur (Rajsthan )
    Mere acche aur.Bure yogo,aur
    govt. joB ka time Bhi Btaye
    aur sadi ki date ke Bare mai Btaye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. namskar panditji ye aapka kaisa jbab h mere kuch bhi samjh nahi aaya kripya vistar se jbab de aur aap baki sabhi ko hindi m jbab de rahe ho mujhe english m kyo jbab de rahe ho.....

      हटाएं
    2. देवेन्द्र जी,ये किसी अन्य महानुभाव के द्वारा आपके प्रश्न का जवाब दिया गया है।पता नहीं कौन ये सज्जन हैं .फिर भी इनकी भाषा शैली के लिए मैं आपसे क्षमा प्रार्थी हूँ।मैं नहीं चाहता था की टिप्पणियों को मैं मोड्रेसन में रखूं।ताकि किसी भी पाठक को सहज रूप से अपना सवाल पूछने की सहूलियत हो।किन्तु लगता है की वास्तव में जो लोग पहले फीस लेकर बाद में जवाब देने की प्रथा चलते हैं वो ही ठीक है।सहूलियत का नाजायज फायदा उठाना इसी को कहा जाता है।आपके प्रश्न का उत्तर शीघ्र देने का प्रयास करूँगा।

      हटाएं
    3. namaskar pandit ji.....
      mai to dr hi gya tha .....thnx god ye sb sch nahi tha ....
      kripya mere prsno ka jbab dene ki kripa kre ...
      mai iske liye aapka bahut bahut aabhari rahunga......

      हटाएं
    4. आएश व धनेश दोनों वक्री होकर क्रमश तीसरे व आठवें भाव में हैं।अततः स्पष्ट रूप से संघर्ष तो बढ ही रहा है।पंचमेश का आठवें में जाना प्राप्त शिक्षा से बहुत अधिक लाभ दिलाने वाला नहीं माना गया है।फिर भी शाश्त्र कहते हैं की यदि कुंडली में लग्नेश मजबूत हो तो कई दुर्योगों का नाश करने में समर्थ होता है।मंगल लग्न में रूचक योग का निर्माण कर रहे हैं।आपको पुलिस,सेना ,या दवाओं से जुडा हुआ किसी भी प्रकार का प्रयास नौकरी के रूप में करना चाहिए।स्वयं के व्यवसाय के लिए आपको धातु व ज्वेलरी आदि से सम्बंधित किसी भी प्रकार का काम शुभ फल प्रदान करेगा।14 जनवरी से आपके लिए शुभ समय की शुरुआत हो चुकी है।यह पूरा वर्ष कई सपनो को साकार करने के अवसर देने वाला है।मेरी शुभकामनाएं ......

      हटाएं
    5. bahut bahut aabhar panditji ......
      kripya sadi ke vare mai btaye ki love hogi ya arrange aur uski sambhavit date kya h...
      aur govt job ka sambhavit time kya h........
      aur koi mhvtvpurd meri kundali mai ho to use bhi btane ki kripa kre.....
      punh babut bahut aabhar...

      हटाएं
    6. panditji namaskar .....
      please help me by answering my questions .....
      thanks

      हटाएं
    7. panditji namaskar......
      aapne abhi tk mere sabhi prsno ka jabab nahi diya .....please panditji give me ur valuable answer to me.....
      thnx

      हटाएं
    8. namaskar panditji.....
      kripya mere prsno ke jabab bhi dene ki kripa kre....
      aapka bahut bahut aabhar hoga....

      हटाएं
  20. name : izhar ahmad
    date of birth : 05-jan-1980
    time : 06-45 Am
    city : bareilly, u.p india
    carrier aur financial life predication , meri kundli mein kya accha kta bura hain,,, kaun sa ratan pehnu 28.20 n 79.29 e

    one more qus, main property ka business kr raha hu, hum 4 partners hain, bt aaj kal unn ki baato se lagta hain wo kafi kuch mujh se chipa rahe hain, kya mujhe dhoka milega

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सप्तमेश होकर बुध की अपने भाव पर दृष्टि है व लग्न में भाग्येश के साथ युति कर रहा है .ईश्वर ने चाहा तो आप को कभी धोखा नहीं मिलेगा।काम का असल आनंद जून 2014 के बाद आएगा।अभी चाहें तो प्रॉपर्टी के साथ साथ मकान आदि बनाने या किसी प्रकार के पार्ट्स आदि का काम भी धन दिला सकता है। धन के लिए योग शुभ हैं।शुक्र को ओपरेट करने का मौका दें .

      हटाएं
  21. pandit ji Please help me....
    Name - Ashutosh Singh
    DoB - 08-April-1985
    Time - 10:10am
    Place - Lucknow, UP
    pandit ji bahut pareshan hu apne carrier ko le kar mayne B Tech kiya h, kab achi job mile gi ? aur muje private job ya government job kya mile gi ?
    Ek ladki se bahut pyar karta hu kya meri usse shadi ho paye gi? wo ladki abhi Banglore m h aur achi job kar h, 5 months se hamari baat bhi nahi ho rahi h.may use bahut pyar karta hu aur usse hi shadi karuga, pandi ji kya karu?
    Mera selection kuch exams m bas 1 ya 2 marks se ruk gaya bahut paresan hu?
    kis feid me thayari karu, may teacher nahi banna chahta hu ?kya bank officer ya civil services me shafalta milegi?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आशुतोष ,दशम भाव में बड़ा जबरदस्त और अजीबोगरीब योग बन रहा है।आपको चाहिए की मीडिया ,जर्नलिस्म ,इन्सोरंस ,व बैंक आदि के लिए प्रयास करें।दशमेश का मृत्यु भाव में जाना थोडा कष्टकर है।किन्तु यहाँ हम अर्धसरकारी ,या स्टेट लेवल की उम्मीद कर सकते है।नौकरी न चाहें तो खुद का व्यवसाय भी सुखद रहेगा बशर्ते शनि से जुडा हुआ हो।अपने अध्ययन के शुरूआती दौर में ऐसा ही जबरदस्त योग एक बहुत बड़े उद्योगपति की कुंडली में देख चूका हूँ।उनका जिक्र यहाँ बेमानी है किन्तु इतना जरूर बता दूं की धन का अखंड सुख आप एक दिन प्राप्त करेंगे।पैसे का आगमन जून 2014 से मनमाफिक होने लगेगा।संयम बनाए रखें।आपका प्रेम विवाह होना संभव है किन्तु कन्या आपके कार्यक्षेत्र से जुड़े होने की अधिक संभावनाएं हैं।

      हटाएं
    2. pandit ji..mera mithun lagna hai..
      1..lagna me shukra hai..
      3.house.me ketu hai
      7...house me shani hai...
      9..house me.mangal,rahu hai
      11..house me guru hai..
      12..house me sun,moon,budh hai,,
      pandit jio meri shadi hogi ya nahi,,,? wife kaisi hogi?
      aur b.tech hone me hai job kaisi rahegi?

      हटाएं
  22. namashkar pandit ji...mera mithun lagna hai....
    1.lagna me shukra hai..
    7.seventh house me shani hai...
    9.ninth house me mangal aur rahu hai..
    11..house me guru hai...
    12..house me...surya,chandra,budh..hai...
    BOD...16/5/1988 9.45a.m.hai...udaipur rajasthan...meri shadi kb hogi?
    Aurwife kaisi hogi..?
    B.tech hone me hai...job kb tk lag jaegi?
    plzz pandit batane ka kast kare...thanks

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपके जन्म स्थान से पस्चिम -उत्तर कि दिशा में आपकी ससुराल संभव है.इस वर्ष मई से अगले एक वर्ष तक विवाह के योग संभव हैं.जीवन साथी सुंदर व धार्मिक प्रवृत्ति का होगा.सप्त्मेश के आय भाव में होने से उसके नौकरी करने कि संभावनाओं को बल मिलता है.नौकरी भी इसी समय काल में मिलना तय है किन्तु मनचाही नौकरी अगले वर्ष जून के बाद प्राप्त होगी.

      हटाएं
  23. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  24. pandit ji, pranaam
    mera naam Ravi Prakash Keshari hai
    janm tithi - 01/02/1986, samay 3:19 pm,varanasi

    kripya ye bataye ki mera bhagya aur vyapaar kaisa rahega,aur bhagyodaya tatha shaadi kab hogi?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. गुरु में मंगल की अंतरदशा जौलाई २०१४ से अनुकूल प्रभाव देने लगेगी. पूर्ण भाग्यॉ उदय ३२ वर्ष में होगा.

      हटाएं
    2. koti koti pranaam pandit ji,

      aapke twarit uttar ke liye dhanyawad.
      koi upay kar sakte hai abhi?arthik pareshaaniyon me hun

      हटाएं
    3. twarit uttar ke liye dhanyawad
      pandit ji,
      abhi aaarthik pareshani se ghira hun koi upay bata ke margdarshan dene ki krupa kare.

      हटाएं
  25. जन्म दिन
    11-10 -87
    बिहारशादी कब और कैसी होगी ?
    बहुत परेशान हूँ कृपया समाधान करे देवज्ञ गुरुजी ।अनामिका

    उत्तर देंहटाएं
  26. पंडित जी नमस्कार, मेने पिछले वर्ष सितम्बर, २०११ में एक सरकारी नौर्की ज्वाइन की थी पर में यहाँ बिलकुल भी संतुस्ट नहीं हु. क्या परिवर्तन हो पायेगा यदि हा तो कब तक और कहा
    जन्मसमय: ०३/१२/१९७८ १२.०० (दोपहर) डेल्ही

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मई तक चाहें तो संजोग बन सकता है.अन्यथा 2014 जून से 2015 जून तक प्रयास करना शुभ रहेगा

      हटाएं
  27. guruji pranaam,

    ek vikat samasya hai mere bade bhai jinki janm tithi 21/12/1983,samay 6:50pm, varanasi, hai
    ye 2 saal se inki dono kidney kharab hai aur dialysis hafte me do baar ho rahi hai,
    koi upay ho to krupaya margdarshan kare.

    aapka aajeevan aabhari rahunga

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. रोग भाव में बैठे गुरु मंगल कि राशि में हों तो मूत्र से संबंधित रोग का कारक माने गए हैं.यहाँ रोगेश कि दृष्टि भी उन पर है इस कारण समस्या अधिक जटिल हो सकती है.मईलाकाइत (दाना फिरंग )नामक रत्न सवा दस रत्ती धारण करें ,साथ ही हर मंगलवार बंदरों को केले खिलाय जाएँ तो असर होगा.

      हटाएं
    2. dhanywad pandit ji
      mai ye upay karke aapko suchit karunga.

      हटाएं
  28. date of birth 17/04/1979 time 12:55 pm Birth place Rewa (M.P.)

    Kripya mujhe bataiye ki meri kundli me kon sa dosh hai jiske karan mujhe safalta nahi mil rahi hai ............

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. लग्नेश चंद्रमा अत्यधिक कम अंशों में 6 वें भाव में विराजमान हैं.आयेश शुक्र अष्टम भाव में जीवन में एक बार तो सब कुछ लेकर कंगाल तक करने का सामर्थ्य रखता है.कहते हैं कि इस लग्न में जातक को एक बार तो जीवन में घोर कष्ट देखना होता है किन्तु दशम भाव में विराजमान सूर्य देव जब अपने उच्च के प्रभाव को दिखाने में सफल होंगे उस दिन आपका जलवा ये सारी दुनिया देखेगी.हालाँकि आपको सरकारी नौकरी में होना चाहिये था ,फिर भी यदि आप कोई व्यवसाय करें तो पिता कि सलाह उसमें अवश्य लें अथवा पैतृक काम को ही आगे चलाये. माणिक व मोती एक साथ धारण करें.अगले वर्ष की बरसात आपके लिए शुभ समय लेकर अवश्य आएगी.सोमवार के व्रत रखें वा नियम से सुंदरकांड का पाठ करें.

      हटाएं
  29. Pandit ji, sadar charan sparsh,

    Birthdate: 18 march 1977, time: 16:05 pm, place: varanasi uttar pradesh.

    Kripya meri kundlai ke baare mein kuch bataye, meri progress theek tthak nahi ho rahi hai aur main apne bhavishya ke baare mein chintit hoon aur saath mein main apne long term goal ke baare mein bhi pareshan hoon, mujhe acchi naukri ka yoga kab hai aur kya mera chennai se transfer ka yoga kab hai, kripya bataye.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सदा सुखी रहें.ज्योतिष का एक सीधा सा सिद्धांत है कि जब भी लग्नेश प्रभावित होता है तो जातक अपने हुनर ,अपनी क्षमताओं ,अपने गुणों का उचित लाभ प्राप्त नहीं कर पता.आगे बढ़ने कि अदम लालसा ,जिजीविषा होते हुए भी समाज में उसका उचित मूल्यांकन नही हो पाता.कुंडली सरकारी नौकरी के कुछ योगों को मज़बूत तो अवश्य कर रही है.किन्तु ग्रहों को रौशनी देने वाले ग्रहों के राजा सूर्यदेव का कमजोर होना समस्या का वास्तविक कारण है.कुछ उपाय बता रहा हूँ.नियम से कीजिये .अवश्य कुछ समय बाद फर्क महसूस होगा.धन को संचालित करने वाले दोनो भावों का अधिपति होकर बुध अपनी नीच राशि में लग्नेश के साथ है.यही अचानक धन नाश,वा पैतृक संपदा के व्यय होने का कारण बन रहा है. ये बुआ से संबंधित किसी प्रकार का दोष बताने वाला माना जां सकता है. 1-मूंगा रत्न सवा पाँच रत्ती धारण करें .2-गले में तांबे का सिक्का पहने व किसी भी हालत में सुबह सूर्योदय से पहले उठें.3-काले रंग से दूर् रहें.4-बुधवार का व्रत रखें व बुआ या बुआ कि कन्या को समय समय पर हरे वस्त्र उपहार में दें,वा संबंध सही बनाये रखें.5-तांबे के बर्तन का पानी उपयोग में लाये.मेरी शुभ कामना आपके भविष्य के लिए. स्थान परिवर्तन मई तक होने की आशा है

      हटाएं
    2. Guruji, sadar charan sparsh,

      bahut bahut dhayawadmargdarshan ke liye, abhi vartaman mein main night shift mein kaam kar raha hoon, pata nahi surya ke upaya ka palan kaise karun, abhi shani ki mahadasha ke karan maine right hand ki madhyama ungali mein neelam kai saalon se dharan kar rakha hai aur munga jaisa aapne bataya pahan rakha hoon, kya mujhe neelam utar kar manikya pahanna chahiye surya ke upaya ke liye, kripaya margdarshan karen.

      Meri budh ki mahadasha Feb 2014 se shuru hone wali hai aur shani ki 19 saal ki mahadasha samapt hone wali hai.

      ek baar punah aapka koti koiti dhanyawad.

      हटाएं
    3. नीलम हटा दीजिये. बस बाकी कुछ नहीं.

      हटाएं
    4. pandit ji, aapka bahut bahut dhanyawad, main upaya prarambh kar doonga aur samaya samay per aapko suchit karta rahunga...:)

      हटाएं
    5. pandit ji sadar charan sparsh, main bhagyashali hoon jo aapka margdarshanm mujhe mil raha hai, ek chhoti si jaankari leni hai aapse ki tambe ka coin mujhe kis din pahanna hai, aur koi mantra ka ucchar bhi karna hai saath hi batayen kaun sa samay upyukta rahega.

      naukri mein tarakki aur northside mein job paane ke liye kya samay anukul hai.

      aapka koti koti dhanyawad.

      हटाएं
    6. 1.किसी भी संक्रांति के दिन.
      2. पाँच माह में ही फर्क महसूस होने लगेगा.

      हटाएं
    7. Pandit ji, sadar charan sparsh,

      kripa kar batayen ki copper coin mujhe kis din dharan karna hai aur saath hi batayen ki kya north mein phir se naukri paane ka yoga banta dikh raha hai, aur saath hi mera margadarshan kare ki kya ab sarkari naukri ka yoga dikh raha hai ya nahi, halanki maine 36 varsh complete kar liya hai.

      aapka koti koti dhanyawad
      Maneesh sharma

      हटाएं
    8. pandit ji sadar charan sparsh,

      Apke bataye anusaar, maine moonga aur tanbe ka sikka pahan liya hai, kripya bataye ki budhvar ke liye kisi ratna ki jarurat to nahi hai, wiase main is budhwar se vrat prarambh kar raha hoon.

      Aapka koti koti dhanyawad is margadarshan ke liye.

      Maneesh

      हटाएं
  30. mera janm 23-09-1983 kko jharkhand me hua hai.mera prashn hai ki mujhe sarkari naukri ka yog hai ya nai aur mera apna makan kab hoga?

    उत्तर देंहटाएं
  31. MERA NAAM SAPNA KESHARI HAI JANM TITHI 17-02-1984,SAMAY 1:25 AM,DEORIA,U.P.

    MERI SHADI HO CHUKI HAI PAR KOI BACCHA NAHI HAI AUR MERE PET ME BHEESHAN DARD RAHTA HAI, UPAY BATAYE.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी कुंडली में संतान संबंधी कोइ विशेष दोष नहीं दिखायी पड़ रहा है.अपने जीवन साथी का जन्म विवरण भी बताएं .

      हटाएं
    2. naam sanjay kumar keshari,DOB 28-08-1983 samay 12:45 pm,varanasi

      हटाएं
    3. pati ka naam sanjay kumar keshari janam 28-08-1983,samay 12:45 pm,varanasi hai,2008 me shadi hui hai.

      हटाएं
    4. kripaya uttar de pandit ji

      हटाएं
    5. ज्योतिषशाश्त्र के सिद्धांतानुसार पुरुष के लिए शुक्र व कन्या के लिए मंगल को संतान संबंधी विषयों में विशेष रूप से महत्व प्राप्त होता है.आपकी कुंडली में मंगल का शनि से युति करना व आपके जीवनसाथी की कुंडली में शुक्र का वक्री होकर अस्त हो जाना ही संतान प्राप्ति में विलंब का कारण बन रहा है. हालाँकि पिछले वर्ष योग बना था किन्तु हो सकता है ग्रहों कि साज़िश के कारण आपने अपने सपनों को आँखों के सामने टूटते हुए देखा होगा.आप सवा पाँच रत्ती मूंगा धारण करें व जीवन साथी को ओपल धारण करने को कहें.किसी योग्य ब्राह्मण द्वारा पुत्र कामेसठि का पाठ करें .कृष्ण की बाल रुप कि तस्वीर पर भोग दें,प्रभु कि कृपा से अगले वर्ष तक शुभ समाचार प्राप्त होंगे.आशीर्वाद ....

      हटाएं
    6. GURU JI PRANAAM,
      MERE [SAPNA] PET ME DARD KAM NAHI HO RAHA HAI,KRYPAYA UAPAY BATAYE.

      हटाएं
    7. अपने पनक्रियाज़ का चेक अप करा लें साथ ही अपेनडिस्क की भी जांच कराएँ .सवा नौ रत्ती गोमेद व लाजवर्द मध्यमा में धारण करें .

      हटाएं
  32. my d.o.b is 04/01/1990
    birth place bharatpur (rajasthan)
    time:- 5.30 am
    please tell me about my govt job when will i get it ........
    thanks

    उत्तर देंहटाएं
  33. Namaskaar pandit ji
    I'M RAVI KUMAR DOB is 18 JUN 1986, TOB is 03:50 AM, POB is VILLAGE CHHAT (NEAR CHANDIGARH)
    MY WIFE RAJNI DOB is 03 OCT 1988, TOB is 09:45 PM, POB is FAGWARA (PUNJAB)

    Mere 2 swaal ha ji

    1. Meri wife hamesha ghar me jaghda karti rehti ha us ki kisi ke sath nahi banti or na he mera kehna maanti ha, har mahine lad jaghad kar apne ghar chali jati ha
    kya vo puri zindagi aise he karti rahegi?
    Ya vo talaak legi?
    Agar sudhar jayegi to kab?

    2. Mai videsh jana chahata hu
    kab ja sakta hu?
    Videsh ja kar kaamyabi milegi ya nahi?
    Meri wife bhi sath jayegi ya nahi?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. शनि देव अगले वर्ष नवंबर से पहले ही विदेश यात्रा के योग बनाएँगे.अगस्त 2012 से समय संकेत करने लगा है.आपकी धर्मपत्नी भी जरूर साथ जायेंगी .मंगलवार को दोनो जने मीठी वस्तुओं का दान करें .यदि संभव हो सके तो बंदरों को गुरुवार को केले दीजिये.शनि का लोहे वाला छल्ला आप दाहिने हाथ की बीच कि अँगुली में मंगलवार के दिन पहने.सब ठीक हो जायेगा.

      हटाएं
  34. dinesh sharma
    21 march 1985
    alwar rajasthan
    meri sarkari naukari kab tak lag payegi. carrer ki tarf se bhut dukhi hu..

    उत्तर देंहटाएं
  35. guru ji pranaam,
    mera janm vivaran nimn hai
    01-02-1986,samay 3:40 pm,varanasi
    mera education ka institute hai jo safal nahi ho raha,aarthik sankat,vivah nahi ho raha hai, margdarshan karen

    उत्तर देंहटाएं
  36. NAMASKAR PANDIT JI
    NAME-KULDEEP
    DATE 11-04-1990,
    TIME- 03:00 AM
    PLACE - KURUKSHETRA (HARYANA)
    pandit ji mujhe aage businees karna chaahiye ya naukri. kripya marg darshan kare.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अभी से व्यवसाय के लिए क्यों चिंतित हो. किसी भी ऐसे विभाग में जहाँ सीधा जनता से सम्बन्ध हो जैसे परिवहन ,वकालत ,आर टी ओ ,या पुलिस के अन्य सहायक जैसे ट्रेफिक ,जेल आदि से सम्बंधित विभाग में आसानी से नौकरी पा सकते हो. यदि व्यवसाय करना चाहते हो तो दूरसंचार ,बिजली अथवा लौह धातु से सम्बंधित कोई व्यवसाय शुभ रहेगा .

      हटाएं
  37. mera naam satish kumar keshari hai, janam tithi 07-11-1985 samay 6:50pm,
    ghatak durghata ho chuki hai do baar upay bataye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. रोग स्थान में सूर्य का नीच होना व उस पर राहु की दृष्टि पैरों में चोट का कारण बार बार बनती है .ताम्बे का छल्ला धारण करें .

      हटाएं
  38. pandit ji mera naam naveen kumar agrawal hai. mera date of birth 21/01/1992 hai, time 01:10 PM hai. mera janm patna bihar me hua tha lakin mai daltonganj jharkhand me rehta hu. kripa kar ke bataye ki meri kundali me mangal yog hai ki nahi yadi hai to kaise savistar batane ki kripa kare or sath me ye bhi bataye ki meri kundli me vivah ka yog kab tak ban raha hai or kis disha me meri saadi hogi. jisse meri saadi hogi wo kaisi hogi wo sundar hogi ya nahi or uska nature kaisa hoga.
    plz pandit ji kripa karke mere in prasno ka uttar jarur de or jaldi de.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका जीवन साथी मजबूत कद काठी ,बड़ी आँखें ,व धार्मिक प्रवृति का होगा. आपकी ससुराल आपके जन्मस्थान से दक्षिण-पूर्व को होने के प्रमाण मिलते हैं .विवाह अगले वर्ष की बरसातों के पश्चात संभव है. आपको आंशिक मांगलिक की श्रेणी में रखा जा सकता है. ग्रहों की युति व अवस्थाएं मांग करती हैं की विवाह से पूर्व किसी योग्य ब्राह्मण द्वारा मंगल व राहु की शांति करा ली जाय.

      हटाएं
  39. PANDIT JI PRANAAM,
    MERA NAAM RAVI HAI JANMTITHI 01-02-1986,VIVAH ME DER KYUN HO RAHI HAI,UPAY BATAYE AUR KYA VIVAH BAD BHAGYODAYA HAI?

    उत्तर देंहटाएं
  40. PANDIT JI PRANAM, MERI DOB HAI 18/10/1970, TOB 22:30 AND POB BARABANKI (U.P.)Vartman mein Shani ki Mahadasha mein Shani ki Antardasha chal rahi hai. Man, Dhan aur Samman ki kshati ruk hi nahi rahi hai.Dimag aur vyavsay poori tarah se disturbed ho chuke hain. koi achook upay turant batayen !!

    Pranam !!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी समस्या समझ सकता हूँ और आपसे सहानुभूति है. वास्तव में मिथुन लग्न का जातक न तो ठीक से नौकरी ही कर पाता है ना ही व्यवसाय .कारण यह है की भाग्येश शनि कार्येष ,आएश व धनेश तीनो से ही शत्रुता रखते हैं .ऐसे में बेहतर है की शनि या बुध से सम्बंधित कार्य किया जाय. यहाँ शनि का प्रभाव दो स्थानों में है. अष्टम व भाग्य भाव मे. अपनी नीच राशि में आय भाव को प्रभावित कर रहे हैं . संतान भाव पर अपनी उच्च राशि पर दृष्टि के कारण देर से ही सही किन्तु संतान द्वारा भाग्योदय अवश्य कराएँगे . शनि देव जीवन में अचानक धन की हानि कराने का सामर्थ्य रखते हैं .साथ ही धनेश का द्वादश में उच्च होना भी इस लग्न में शुभ फल प्रदाता नहीं होता . य़े पैत्रिक धन सम्पदा को शुभ कामों में खर्च करा देता है .दशम पर गुरु की दृष्टि ने हो सकता है की कपडा ,धागा आदि से सम्बंधित किसी प्रकार के काम में नुक्सान कर दिया हो किन्तु हिम्मत न हारें . आप तो रोहिणी नक्षत्र के जातक हैं .सीधा सम्बन्ध आपका वासुदेव कृष्ण से बनता है ,फिर भी हालात से विचलित हो रहे हैं .जरा याद करें उनका जीवन चरित्र .बसी बसाई मथुरा जरासंध के डर से छूट जाने का प्रमाण शाश्त्रों में मिलता है .सब कुछ हाथों से फिसल गया था .खाली हो गए थे.चोरी का इल्जाम भी लगा किन्तु हिम्मत नहीं हारी .क्योंकि भाग्य में अभी सुखों का चरम देखना लिखा था . हज़ारों मील दूर रेतीले रास्तों में तप कर, उसे पार कर, द्वारिका बसाई और द्वारिकाधीश कहलाये .शनि आपको तपाने के लिए आया है न की जलाने के लिये. जो भी काम करें संतान के नाम से करें .शनि की अन्तर्दशा समाप्त होते ही सब कुछ व्यवस्थित हो जायेगा. प्रात काल जल्दी उठा करें ,सूर्य देव को नियमित अर्ध्य दें .घर के पूर्वी कमरे में शयन करें .अभी आप पश्चिम की ओर हैं,मंगलवार का व्रत करें .व शनिवार को रात्रि का भोजन त्यागें .श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारे ................ इस मन्त्र की एक माला रोज जपें . यदि संभव हो तो एक बार सोमनाथ जी के दर्शन कर आयें . श्री कृष्ण सदा आपके सहायक हों,वो ही आपके अराध्य देव हैं .उनके कष्टों के आगे आपका कष्ट बहुत कम व अल्प समय के लिए है. मेरी शुभकामनाएं ......

      हटाएं
  41. My Name Ankit Goyal D.O.B. 10/05/1985 Time : 16:48 Place: Kota Rajasthan

    Pandit Ji Mera Vivah Kab Hoga Kripaya Batayen.

    Dhanyawad.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. दो वर्ष पूर्व भी विवाह का मुहर्त आया था अंकित जी .इस वर्ष नवरात्रों के आस पास आप विवाह सूत्र में बंध जायेंगे .अक्टूबर माह के आस पास विवाह संभावित है. केन्द्रधिपति दोष से पीड़ित होकर सप्तमेश देव गुरु ब्रहस्पति अपनी नीच राशि में हैं .सुनैला रत्न धारण करें .पैंतालिस दिन के भीतर शुभ समाचार प्राप्त होने के आसार होंगे .

      हटाएं
  42. Pandit ji ; Saadar Pranam!

    mera naam varun hain.

    D.O.B : 28-december-1987

    Time :07:07 am

    Place: bareilly (U.P)

    pandit ji ; mujhe apne career ke baare mein jaanna hain.

    kya mein civil servant ban sakta hun....

    kripya margdharshan karein.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सूर्य के साथ शनि की युति जब हो जाती तो पीली धातु अर्थात सोने में मिलावट के प्रमाण मिलने लगते हैं .जातक सोने की पोलिश किया हुआ लोहा हो जाता है .अर्थात अन्दर से लोहा किन्तु बाहर से सुनहरी रंगत लिए हुए. अब जातक चाहता है की उसकी कीमत सोने के समान तीस हजार रुपैए तोला लगे किन्तु समाज उसकी कीमत सौ रुपये किलो ही लगाता है।चंडाल दोष ,ग्रहण दोष व नवमांश में भी लग्न ही में ग्रहण दोष का सृजन हो रहा है. अति आत्मविश्वास व चीजों को बड़ी सहजता से हासिल करने की प्रवृत्ति आपको मौकों पर धोखा दे सकती है. अपनी इन कमियों पर विजय पाओ तो मनचाही मुराद के विषय में सोचा जा सकता है. नवमेश -दशमेश की युति लग्न में प्रबल सहायक योग का निर्माण कर रही है . शिक्षण या बैंकिंग ,अथवा कंसल्टिंग के क्षेत्र में प्रयास सफलता की सूचना दे रहा है. यथा शीघ्र व्यवस्थित हो जाएँ .आने वाला समय थोडा कठिन साबित होने वाला है. साथ ही लग्न में सूर्य -शनि युति सिर पर किसी प्रकार की चोट -समस्या आदि के प्रति सचेत रहने की मांग करती है .

      हटाएं
  43. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  44. राजीव जी ,बड़ी अजीबोगरीब बात आप बता रहे हैं . मेरा यह कहना की आप गलत कागजों के सहारे नौकरी प्राप्त करें ,क्या कहीं से भी उचित होगा ?मैं क्या कोई भी ज्योतिषी इस विषय पर भविष्वाणी नहीं कर सकता . और आपको ऐसी आवश्यकता क्यों पड़ रही है ,यह भी मेरी समझ से बाहर है. दशम भावस्थ भाग्येश आपके लिए सुन्दर सरकारी नौकरी का योग उत्पन करने में पूर्णत सक्षम है. अपने परम मित्र चंद्रमा के नक्षत्र में विराजमान सूर्य आपको किसी भी प्रशासनिक पद का दावेदार बनाता है. साथ ही शिक्षा व बैंकिंग आदि के क्षेत्र में आपके लिए अनगिनत अवसरों का जनक बनता है. लग्नेश का आएश के साथ आय भाव में ही युत्ति करना व धनेश का वहां पर अपनी उच्च राशि का अवलोकन करना समृद्ध पृष्ठभूमि का प्रमाण देता है साथ ही बेहतर स्व अर्जित आय के मार्गों को प्रशस्त करता है .मैं व्यक्तिगत रूप से नवमेश व दशमेश का राशि परिवर्तन एक श्रेष्ट राजयोग मानता आया हूँ .यहाँ जिसे मैं पूर्ण रूप से अपनी रश्मियाँ बिखराकर जातक को एक गणक बनाता देखता हूँ .ये आप पर क्यों लागू नहीं हुआ मैं अचंभित हूँ .सन 2007 के अंतिम महीनो से अगले वर्ष की शुरूआत में ही कैसे ये अपने बेहतर परिणाम प्रस्तुत नहीं कर पाया ये जिज्ञासा का विषय है. कहीं कुंडली में ही तो कोई भेद नहीं है ?अर्थात क्या आप अपने जन्म समय के बारे में आश्वस्त हैं ?सप्तमेश भाग्य भाव में क्यों अभी तक आपका विवाह कराकर आपके भाग्योदय में सहायक नहीं हुआ ,ये भी विकट प्रश्न है ? फिर भी यदि ऐसा है तो मैं आपको माणिक रत्न धारण करने की सलाह दे रहा हूँ .पिता के जन्म स्थान से एक मुट्ठी मिटटी लाकर जहाँ आप रहते हैं वहाँ के आँगन में डाल दें .सोते समय सिरहाना पूर्व दिशा की ओर करें .वर्तमान में समय पूर्णत अनुकूल चल रहा है. पिछले काफी समय से आपके लिए भाग्य द्वार खोले बैठा है .अगर अब भी नहीं तो फिर कब भैय्या ?अगर इतना कर के भी हालात में परिवर्तन नहीं पाते हो तो मैं आपको किसी अन्य ज्योतिषी के राय लेने की सलाह दूंगा .मेरी शुभकामनाएं .......

    उत्तर देंहटाएं
  45. Guru Ji Pranaam,
    MERA NAAM RAVI PRAKASH KESHARI HAI DOB 01-02-1986,TOB 3:40 PM, POB -VARANASI,GURUJI ARTHIK PARESHAANI AUR SHANI KI SADESHATI CHAL RAHI HAI,
    MAI EK LADKI KO PASAND KARTA HUN,KRIPAYA BATAYE KYA PREM ME SAFAL HONE KI SAMBHAVANA HAI?AUR KYA ISASAY MERE BHAGYA ME KOI PARIVARTAN DIKH RAHA HAI.

    उत्तर देंहटाएं
  46. acharya ji namste,
    meri D.O.B- 7 DEC 1987 HAI,
    TIME- 11.15AM MORNING,
    PLACE- BARODA,GUJARAT.
    ACHARYA JI MUJE JANNA HAI KAI MERI KUNDLI ME GOVERNMENT JOB KE YOG HAI,ACHARYA JI MERA 8 MAY 2013 KO ONGC ME INTERVIEW HAI, TO US ME ME SAFAL HO PAUNGA.
    MERI MAKAR LAGAN KUNDLI HAI,
    3RD HOUSE ME GURU-RAHU
    6TH HOUSE ME CHANDRA,
    9TH HOUSE ME KETU,
    10TH HOUSE ME MANGAL,
    11TH HOUSE ME SURYA-SHANI-BUDH,
    12TH HOUSE ME SUKRA,
    PLEASE ACHARYA JI MUJE BATAIYE.THANK YOU.

    उत्तर देंहटाएं
  47. सदा खुश रहो व सामान बाँध लो ,नवम्बर माह तक नौकरी से बुलावा भी आने वाला है .

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ACHARYA JI NAMSTE AUR MUJE BATANE KE LIYE DHANYVAD,
      AUR,
      MERI KUNDLI ME SHANIDEV 11TH HOUSE ME HAI AUR SHATRU RASI ME HAI, LEKIN UNKI 3RD DRASTI MAKAR RASI PAR HI PADTI HAI TO ISS TIME SHANI DEV KE KYA FAL HOGA. MUJE SHANI DEV KE RELATED DAN KARNA CHAHIYE KE NAHI? PLEASE GURUJI MUJE BATAYE?? DHANYVAD.

      हटाएं
  48. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  49. acharya ji namaste,
    my name - pooja singh,Dob- 26-06-1985,Tob- 6:30pm,Pob - varanasi,
    mai banglore me job karti hun,mai ek ladke ko pasand karti hun jiski Dob-01-02-1986,Tob -3:40,POb- varanasi,gharwale shadi k liye force kar rahey hai,kya is ladke se shadi ho payegi,agar haan to kab tak?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इस वर्ष के अंत से पहले ही आपके विवाह तय हो के प्रमाण शाश्त्रोनुसार मिल रहे हैं .प्रेम विवाह के योग आपकी कुंडली में विराजमान हैं किन्तु उसकी सफलता में संदेह है. तीन वर्ष से अधिक ये सम्बन्ध आपको खींचना मुश्किल हो जाएगा . वैसे आप दोनों की कुंडली का मिलान पाया जा रहा है.

      हटाएं
  50. Pandit ji Pranam .......Mera naam Anurag Tiwari hai meri date of barth 16/10/1989 hai time 11:59 pm place Sultanpur u.p. hai meri job ka yog kab ban raha hai mujhe sarkari nolari milegi ya media me safal rahunga....mera jivan shukhi rahega...? kripya marg darshan karen....

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. किसी भी ऐसे विभाग में जहां सीधा जनता से संपर्क हो ,आपका चयन तय पाया जाता है . गोमेद रत्न धारण करो .समय अनुकूल है. मेरी शुभ कामनाएं

      हटाएं
  51. Pandit g namskar.name happy meri dob 17_7_1987 chandigarh 9:40 pm sir meri shadi nai ho rahi hai .kab tak hoyegi nd wife kaise milegi aur sir mera bhagye uday kab hoyega life mai age kuch acha bhi hai

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. विवाह का योग बीते वर्ष भी बन रहा था ,अभी थोड़ा विलंब है. आपका जीवन साथी बड़ी गोल आँखों ,बोलने में निडर,सामने के दांत थोड़े बड़े या बाहर ,मध्यम कद व थोडा दुबला शरीर धारण किये हुए होगा. आपको विवाह के समय कुंडली मिलान पर विशेष ध्यान देना अतिआवश्यक है. सप्तमेश का मंगल के साथ ६ भाव में होना भविष्य में दाम्पत्य जीवन में अंतहीन कलह व खट-पट का कारण माना गया है . ओपल रत्न धारण करें .

      हटाएं
  52. Pandit Ji namaste,

    mera name ajay kumar,datr of barth 11/08/1974 hai time 12:50pm (11-12 ki rat) place pilkhuwa distt hapur u.p , pandit ji may kesi kay sath kitna hi acha kar lu par koi thek nahi khata,may apna vyapar kar na chati hu thek rhya ga ya nahi, agar thek ha to kay vyapar kar na thek hoga, agay jivan kasa hoga.
    please help me

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. लग्न में बनने वाला ग्रहण योग आपको बहुत अधिक संवेदनशील बना देता है. हर बात में अपनी हाजिरी लगने की लालसा ,हर बात में अपने सम्मान की अत्यधिक चिंता करना ही आपकी समस्या का कारण है. एक बात अपने दिल से निकाल दीजिये की आप सब के प्रति जवाबदेह हैं या सारे संसार की निगाह केवल आप पर ही लगी है. कृष्ण की उपासना कीजिये व माणिक रत्न धारण कीजिये, प्रातः सूर्य को अर्ध्य दीजिये .अपने सामने की दीवार पर कृष्ण का चित्र लगायें .व्यापार करना चाहते हैं तो लौह धातु से लाभ के आसार हैं .

      हटाएं
  53. Pandit ji prnam...aap ke marg darshan keliyae hardik dhanyvad...pandit ji maine abhi moti va munga dharn kiya hua hai....kyamunge ke sath gomed dharan kiya ja sakta hai...panti ji meri date of barrh 16/10/1989 time 11:59 pm place Sultanpur u.p hai meri mahila mitr ka date of barth 07/07/1991 time 10:15pm place jabalpur m.p hai kay hamara vivah hoga....aur kya ham dono ke vivah ke baad prem , santan, shukh aadi ham dono ko prapt hota rahega...

    उत्तर देंहटाएं
  54. pandit ji,pranaam
    mera naam hare prakash keshari hai, DOB - 21-12-1983,POB - varanasi,TOB - 6:50 pm.
    aapke aadeshanusar kidney ke liye,sawa das ratti ka Dana Firang Dharan kiya hai,kintu koi sudhar nahi hai,apitu adhik kast ho gaya hai,
    dialysis bhi badh gaya hai, margdarshan karen.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. रवि जी ,आपके स्वास्थय के लिए चिंतित हूँ .दाना फिरंग एक अति साधारण रत्न है जो बहुत धीमी गति से व बहुत साधारण सा असर आपके स्वास्थय पर डालेगा वास्तव में पंचम भाव से शनि जब तक गोचरवश नहीं हटेगा ,तब तक पूर्णत आराम मिलेगा इसमें संशय है. उचित डाक्टरी सलाह लेते रहें व तुलसी पर नियमित जल चाढाकर ताम्बे के बर्तनों में पानी का सेवन करें .लग्नेश की दशा आरम्भ हो चुकी है .प्रभु ने चाहा तो शनि का वक्री प्रभाव(जुलाई के बाद ) तुला से हटते ही आराम होगा. समय समय पर अपने स्वास्थय का बारे में सूचित करते रहे. मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं . .

      हटाएं
  55. pranaam.guru ji
    mera naam mrei janm tithi 8 june 1977 samay 6 pm,varanasi
    mai aur mera parivar,loan ke jaal me fasa hua hai,kab tak mukti milegi isasay.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मंगल का व्ययेश के साथ कर्ज के भाव में बैठना व भाग्येश- चतुर्थेश का आपस में राशि परिवर्तन सम्पदा जोड़ने के लिए,व रोग के निवारण हेतु लिए गए धन का प्रमाण प्रस्तुत करता है. लाल आसन पर बैठ कर "गोवल्लाय स्वाहा "इस मन्त्र की एक माला का जाप नियमित करें .प्रभु की कृपा से सुन्दर परिणाम प्राप्त होंगे . .

      हटाएं
  56. मेरा नाम अशोक कुमार सोनी है मेरा जन्म 30.05.1980 रात्रि 12:20 मिनट है दिन शुक्रवार स्थान गिरिडीह झारखण्ड है मुझे सफलता कब मिलेगी ।

    उत्तर देंहटाएं
  57. pandit ji praanam
    meri date of birth 31-8-88 hai samay 11.10 min , lucknow.. 4 saal se meri job nahi lag rhi ..koi upay btaiye

    उत्तर देंहटाएं
  58. praanam guru ji meri date of birth 31-08-1988 ;11:10 subah, lucknow hai..
    meri char saal se job nhi lg rhi koi samadhan btaiye
    aur mera viva ashish se hone waala h 5 jan 1984, 23:40 delhi
    ye btaiya sab sahi rahega na

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. शनि महाराज तुला में प्रवेश करने के साथ ही आपके लिए नौकरी के समीकरण बनाने लगे हैं, मैं दुविधा में हूँ की अभी तक आप नौकरी पर क्यों नहीं हैं .जबकि काफी समय से योग बना हुआ है. बैंक,शिक्षण ,फाइनेंस ,कानून , एनीमेशन व ऐसे कोई भी क्षेत्र जहाँ जल आदि का उपयोग होता हो ,आपका चयन तय है .लग्न पर मंगल-चंद्रमा -राहु की दृष्टि मांग कर रही है की जरा अपने तुनक मिजाजी को नियंत्रित किया जाय .हो सकता है को ये भी एक कारण बन रहा हो . अन्यथा पिछले अगस्त से तो प्रमोसन ,ट्रांसफर आदि के योग अधिक तीव्रता से बनते दिखाई दे रहे हैं .फिरोजा रत्न चांदी में सवा दस रत्ती गले में धारण करें व पांच रविवार गुड का दान करें .विवाह हेतु उत्तम गुणों का मिलान पाया जाता है .भविष्य में आपसी विचारों को जितना सम्मान देंगे बेहतर होगा, ईगो का त्याग आप दोनों को ही करना होगा . पंचम भाव थोडा कमजोर होने का आभास मिल रहा है. संतान में विलम्ब संभव है . सुन्दर भविष्य हेतु मेरी शुभकामनाएं ...

      हटाएं
  59. Pandit Ji, Koti Koti Namaskar , M ved prakash sharma , Jaipur / rajasthan se bol raha hu . mera jyotish m kafi interest h . pandit ji, mera janam Kumbh lagna m dated 03.06.1981 ko rat m 00:17:18 baje rajasthan ke karauli zile ke ak gam mahaswa m huya tha , kripya bataye m ab kausi mahadasha m chal raha hu aur mera promotion kab hoga

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. गुरु की महादशा में बुध के अंतर का प्रमाण वर्तमान में प्राप्त होता है. साल की आखिरी तिमाही में आप मन चाहा फल प्राप्त कर रहे हैं।दूर की यात्राओं (इसे आप विदेश भी मान सकते हैं )के योग भी आपके जन्माङ्ग में उपस्थित है.

      हटाएं
  60. Sir mujhe ye puchna hai. mai carpanter ka kam karta hu nd mai kam ache se kar bhi leta hu but mujhe kam karne problam ati hai aur dimag bhi pura din tenshan mai rehta hai sir koi upaye btayen jis se mai apne kad ko samjh bhi saku aur sahi se kar bhi pau 17_7_1987 chandigarh 9.40 pm

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. फिरोजा रत्न चांदी में सवा आठ रत्ती धारण करें .किसी भी हालत में प्रातः सूर्योदय से पहले जागें .अनार का सेवन करें .धीरे धीरे सब कुछ नियंत्रण में होगा .

      हटाएं
  61. Sir g mai bhi ek jankari lena chahta hu .kisi se puch nai ska islye ap se puchna chahta hu .mere muh per right side til hai .til chota hai nd halka brown color hai nd mere ling per bhi right side niche ki tarf til hai .pls sir mujhe iske bare mai bta dijye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जीवन में कई सुंदरियों से दैहिक सुख की प्राप्ति के प्रमाण मिलते हैं .

      हटाएं
  62. pandit ji namaskar mera name akhilesh ha or meri d.o.b 05-09-1983 time 09:05 Am ha.
    Mene kal sarp dosh ke leya mahamritujya ka jaap karwa liya ha to kripya ya bata de ki meri kundli me sarkari naukri ka yog ha ya nahi or ya saal mere liya kaisa rehage

    उत्तर देंहटाएं
  63. pranaam ji,
    my DOB-26-06-1985 TOB 6:02 pm POB- varanasi.,kripaya ye bataye ki mera pati kaisa hoga aur kaha ka hoga?aur vaivahik jeevan kaisa rahega?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. क्या कहूँ ? संकोच के साथ कह रहा हूँ की कुंडली मिला कर विवाह में बहुत समस्याएँ आएँगी .स्पष्ट मांगलिक है आप,साथ ही अन्य योग भी हैं जो किसी भी ज्योतिषी को कुंडली मिलान के समय हाथ अंगारों पर रखता प्रतीत कराएँगे .विवाह होने के बाद भी जीवन साथी का स्वास्थ्य शारीरिक रूप से कमजोर होना संभव है. यदि संभव हो तो विवाह पूर्व किसी योग्य ब्राह्मण द्वारा घट विवाह करा लें .जीवन साथी का चयन आप मन ही मन कर चुकी हैं .साठ मील के भीतर आपके जीवन साथी का निवास स्थान होने के प्रमाण मिलते हैं .

      हटाएं
  64. panditji pranam,
    mera name shubhangini hai meri dob-12/03/1994,Time- 02.30AM, Place-baroda,gujarat.
    meri shadi ko 3 month ho chuke hai, mera damptya jivan kesa rahega?
    aur muje kon sa ratan pahen na chahiye.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धनु लग्न में सप्तमेश के साथ शनि की युति जीवन साथी के आयु में अधिक होने के योगों को बताती है .साथ ही शारीरिक सुख बहुत उत्तम कोटि का नहीं माना जाता .सप्तम भाव पर गुरु की दृष्टि जीवन को किसी तरह आगे ले ही जाती है .यही योग आयु के २२ -२३ वें वर्ष धन का लाभ करते देखे गए हैं .दाम्पत्य जीवन बहुत अच्छा नहीं माना जा सकता .बुधवार के व्रत करें व तुलसी की उपासना करें .

      हटाएं
  65. pandit ji namaste my name is raju DOB 23/4/1985 time 3.10 Am place- kolhapur meri shadi kab hogi? & mera future kasa hoga?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सितम्बर तक विवाह कहीं तय होने के संकेत मिल रहे हैं .ओपल धारण करें . जीवन सामान्य रहेगा

      हटाएं
  66. mera name nidhi hai mai apne vivah k bare me jana chati ho mera date of birth 21 3 1984 , tym 11 :30 pm , sirsa(hry) hai kirpa batye mera viavh kab tak hoga

    उत्तर देंहटाएं
  67. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  68. guruji namaste,
    Name- Meeta parmar,
    Meri dob-31/12/1985
    Time- 05.00 PM
    Place- baroda,gujarat.
    Guruji Mene msc environment kiya hai aur meri job chal rahi hai muje business karna hai to mere liye ye suitable rahega??aur konse latter se name rakhna chahiye?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. द -च अक्षरों से शुभ फल प्राप्त होंगे .फिर भी दशमेश के नीच होने के कारण नौकरी करना बेहतर है . पार्ट टाइम कार्य के रूप में धागा या वस्त्रादि से सम्बंधित कार्य किया जा सकता है .

      हटाएं
  69. Guru ji mera naam munmun hai merit date of birth hai 30/06/1986
    Time-00.05 am
    Place -barauni
    Sir mai apni nakari ko le kar bahut tension mai hu.kahi bhi success nahi ho pa rahe hu.plz help kare aur shaadi kab tak hogi

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. दवाओं -अस्पताली शिक्षाओं ,व शिक्षा य अन्य किसी प्रकार के प्रशासनिक क्षेत्र में आपका चयन तय पाया जाता है .विवाह का योग आरम्भ हो चुका है .तिकोन मूंगा धारण करें .

      हटाएं
  70. Guru ji answer dene ke liye thanks. Ek aur baat Jana na tha kind maine abhi sbi PO ka paper diya hai kya mai usmai safal ho paunge

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. स्वयं के नक्षत्र में विराजमान गुरु मई माह से दशम भाव को बल देने लगें हैं .दशम भाव नौकरी आदि से सम्बंधित भाव माना जाता है .आपका सरकारी नौकरी में चयन तय है .घबराने की आवश्यकता नहीं है . अगली मई से पहले ही आप कहीं जगह पा रही हैं .ये वादा है हमारा आप से .बस चयन होने के बाद सूचित अवश्य करें ,हमें ख़ुशी होगी .

      हटाएं
    2. Guru ji namasate
      Guru ji jisesa aapne bola tha ki job mil jayege to ek do jagah se interview ka call aaya hai.par guru ji jo mil raha hai vo sab contact vala job hai. Guru ji mujhe govt job kab milga.guru ji aapne Jo tikona munga dharun Karen ko bola tha vo bhi Maine dharun kar liya hai.... guru ji shaadi ka bhi kuch nahi ho pa raha hai. Kya karu

      हटाएं
    3. इतना अधिक सोचना उचित नहीं है. समय अपनी गति से आगे बढता है व भाग्य अपने अनुसार हालात को तय करता है .फिलहाल जहाँ से नौकरी की कॉल आये जरूर कीजिये .एक बार आर्थिक सहायता प्राप्त होने लगती है तो मनोबल स्वत ही बढने लगता है .रातों रात कुछ नहीं हो सकता .खुश रहिये व प्रभु पर विश्वास रखिये .सब कुशल होगा . .

      हटाएं
  71. मेरी कुंडली में तीसरे घर में सूर्य बुध शुक्र शनि और चौथे घर में गुरु और पांचवे में मंगल छठे में केतु
    8व़े में चन्द्र और बारहवे में राहू जी है कृपया मेरी कुंडली बताये पंडित जी
    नाम -संदीप दिनांक 30-09-1982 समय 2:15 am जगह-बाराबंकी उत्तर प्रदेश

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. संदीप जी .आपका प्रश्न स्पष्ट नहीं है .क्या प्रश्न करना चाहते हैं .मेरा भविष्य कैसा होगा या मेरे बारे में बताइए ,ये बेतुके सवालों में आते हैं जिसका जवाब देना ,मेरे तो क्या शायद किसी भी ज्योतिषी के लिए मुमकिन नहीं होगा .भविष्य बड़ा विस्तृत शब्द है .एक कागज़ में इस से सम्बंधित कुछ कहना हास्यपद है ,कुछ जानना चाहते हैं तो कृपया अपना प्रश्न उस मुद्दे -विशेष पर करें .

      हटाएं
  72. JAI SIYA RAM,, PANDIT JI,,
    my name is GAGAN = DOB 02/04/1987 time 1:30 PM place- Hoshiarpur {Punjab} meri shadi kab hogi ? & mera future kasa hoga ?

    उत्तर देंहटाएं
  73. JAI SIYA RAM,,PANDIT JI,,

    my name is GAGAN DOB 02/04/1987 time 1:30 PM place- Hoshiarpur {Punjab} meri shadi kab hone ki umeed hai? & meri married life kaisi hogi? or mai apne bare me kuch janna chahta hu kuch bhi jo apko acha lage.? KI MAI KAISA INSAAN HU. KYA APKE PASS ISKA ANSWER HAI? THANKU.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रश्न आपका भी स्पष्ट नहीं है गगन जी ......विवाह यदि मई २०१२ -१३ में नहीं हुआ तो अब योग अगले वर्ष के मध्य के बाद ही दिख रहा है .कर्क लग्न है तो जाहिर रूप से भावनाएं अधिक हैं आपके भीतर ,कुछ तो ऐसी जो सामाजिक रूप से एक गुण के रूप में देखि जा सकती है व कुछ ऐसी जो व्यक्तिगत व पारिवारिक नजरिये से अवगुण मानी जा सकती हैं .भाग्य भाव में बनता ग्रहण योग आपको शुरूआती जीवन में निराश कर सकता है किन्तु आयु बढने के साथ साथ आप स्वयं के पराक्रम से अपना मुकाम हासिल कर लेंगे .एक निश्चित आयु के बाद आपका शरीर आपकी आशा से अधिक भारी होने लगेगा ,साथ ही आपको खुजली -एलर्जी आदि से जूझना पड़ेगा .वर्तमान मे समय शुभ नहीं है .किडनी -पेशाब सम्बन्धी किसी रोग से दो चार होना पड़ सकता है .कर्क लग्न के जातक को श्री राम के ही सामान वनवास रुपी कष्टकारी समय अवश्य गुजारना होता है .पैसा -सेहत -परिवार -रोजगार आदि किसी भी विषय में इसे माना जा सकता है .आपका वनवास २००६ से आरम्भ हो चुका है,जिसकी समाप्ति सन २०१९ में होगी .अभी यदि संभव हो तो किसी योग्य ब्राह्मण द्वारा महामृतुन्जय का पाठ करा लें .

      हटाएं
  74. guru ji pranaam
    mere upar shani dev ki sadesati chal rahi hai,arthik aur mansik rup se atyant pareshaan hun,krupaya upay bataye aur ye kab tak sahi hogi?
    name - ravi prkash
    dob- 01-02-1986
    time 3:40 pm,
    varanasi

    उत्तर देंहटाएं
  75. Namashkar pandit ji .......mera meen Laguna hai aur 1house mai rahu hai
    3nd house mai Surya hai
    4th mail shurk aur bhud hai
    7th mai ketu hai
    8th mai sani hai
    9th mai mangal hai
    11th mai guru hai
    12th mai moon hai

    Mere date of birth hai 30.6.86
    Time-00.05 am
    Place hai-barauni
    Name-munmun kumari
    Guru ji job ko le kar bahut tension mai hu.nahi kuch nahi ho pa raha hai.government job kab take lagege.Sahi samay kab tak Hoga.plz answer.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. GURU G KO SAADER PRANAAM .....MERA DOB 26-9-1980 TIME 6.30 PM PLACE GHAZIPUR U.P. GURU G YE BATAYEN KI MUJHE EK ACCHE GHAR AUR GAADI KI JARURAT HAI KYA YE POORI HO SAKTI HAI

      हटाएं
    2. सदा खुश रहो सुमित बाबू ,विवाह द्वारा मकान या वाहन के सुख में अवश्य वृद्धि होने के संकेत हैं . शीघ्र ही किसी के साथ कैटरिंग .ब्याज आदि का धंधा कर सकते हो ,जिससे आय में बेहतरीन फल प्राप्त होंगे .२०१५ से समय अनुकूल होकर इच्छाओं की पूर्ती करेगा .

      हटाएं
  76. Guruji sadar pranam,
    Mene apka blog pada, me isse bahut prabhavit hua .
    Guruji me doctor hu , meri wife bhi doctor h , par family life me bhahut tension ho rahi h , practice bhi abhi settle nhi hui h , mene abhi abhi place bhi change kiya h , par chinta rehti ki kya decision thik h ya nhi ,Guruji plz iske baare me bataye ,aur upay bhi , kya marriage me break to nhi h , aur practice wise kaisa h
    DOB 15_04_1979, 4:00PM , MEERUT,
    DHANYAWAD

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सामान्य मेडिकल प्रैक्टिस के बजाय आप किसी विशेष दक्षता (गायनिक -ई -एन -टी आदि) को प्राप्त करते तो आपकी सफलताओं का पैमाना कुछ और ही होता .क्योंकि चंद्रमा के चतुर्थ में होने व दशम भाव में शुक्र की राशि को बल प्रदान करने से सामान्यत ऐसे जातक शुक्र सम्बन्धी व्यवसाय वो भी विशेष रूप से स्त्रियों से सम्बंधित करते देखे गए हैं . सिंह लग्न के जातकों का दाम्पत्य जीवन सामान्यरूप से वैचारिक मतभेदों से भरा होता है विशेषकर जब उनके जीवन साथी का नाम अ -म आदि से आता है .दो पाप ग्रहों की दृष्टी सप्तम भाव पर दाम्पत्य सुख को सामान्य रूप से तो नहीं रह ने देगी इसमें कोई संदेह नहीं ,किन्तु भविष्य में आपके जीवन साथी का कार्यस्थल आप से दूर हो जाएगा ,तब स्थिति स्वतः ही ठीक होगी ऐसी हम प्रार्थना करते हैं .लग्नेश भाग्य भाव में उच्च हो गए हैं किन्तु बहुत कम अंशों में है न ,सवा पांच रत्ती मानिक ताम्बे में धारण करें .अपने क्लिनिक में घुसते ही सामने की दीवार पर सात घोड़ों का दौड़ता चित्र लगायें .अगस्त १२ व मई १३ के मध्य स्थान परिवर्तन का योग तो बन ही रहा था .बुध जो की इस कुंडली में धन सम्बन्धी दोनो भावों का अधिपति है, अष्टम भाव में विराजमान है .कहते हैं की इस अवस्था के फलस्वरूप जातक जो भी कमाता जाता है वह खर्च होता जाता है .कोई न कोई खर्च उसे हर वक्त घेरे रहता है .उपाय्स्वरूप किन्नरों की सेवा व पंछियों को बाजरा डालना योग के बुरे प्रभाव को कम करता है .

      हटाएं
  77. pranam pandit ji..

    name--deepak kumar
    dob--02 august 1989
    time--1:32 dophar
    place--satna mp

    pandit ji muchhe apne carrier ke bare me janna hai..maine abhi btech kiya hai computer science se...

    kripya karke margdarshan de ..aapka bhut bhut dhanyawad,...

    उत्तर देंहटाएं
  78. sir, my name is gulu gupta. myu dob. 10 july ,1980. time 7:35am. palece sikar ,rajasthan. muje rojgar kab tak or kis fild mey meelega.shadi kab tak hogi. kia may palyback singing mey apna safal carriar bana sakta hu. mare lia konse gemston luky rahenge. palese tell me.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आय भाव में शुक्र चन्द्र युति किसी कला द्वारा धन की प्राप्ति के योगों को बलवती तो करती है ,किन्तु वाणी भाव में शनि की उपस्थिति गायन में मिठास को कम कर देगी .आप सुरों के ज्ञाता तो हो सकते हैं किन्तु आवाज की मिठास नैसर्गिक नहीं हो सकती .प्रातः दांत साफ़ करने के तुरंत पश्चात थोडा सा गुड खाकर पानी पिया करें .ओपल रत्न धारण करें .प्रभु ने चाहा तो आय भाव में बनता योग धन की कमी नहीं होने देगा .संगीत का सम्बन्ध शिक्षा से जोड़ लें तो गुरु का बल भी प्राप्त होने लगेगा .

      हटाएं
    2. sir, mere parsan ka utar dene ke lia bhut dhnyvad or abhar apko deta hu, may jab bat chit karta hu tab meri awaj meethi nahi hoti,lekin jab may geet gata hu tab meri awaj apne ap meethi ho jati hai,may abhi berojgar hu,may lekhan ka kam bhi jese kavita geet vechar aadi likh leta hu, music fild mey muje chanc kab tak melega,jisse may rupya kamane lagu, karpya batane ka kast kare

      हटाएं
  79. guru ji pranaam,
    ek gambhir samasya aa gayi hai,apse nidan ki asha hai.
    mai pichale 5 saalo se Investment advisory ka kam karta hun,pichle mahine mere yahan,bantwaaray ki bat hone lagi,mujhe jaha mera office hai chodna pad raha hai,problem ye hai ki ab mai confuse hun ki ab job karoon ya business.abhi sani ki sadesati me hun.mansik ashanti se gujar raha hun.
    name - ravi prakash keshari
    dob - 01-02-1986
    tob- 3:40 pm
    pob - varanasi

    उत्तर देंहटाएं
  80. Jai Shri Krishan Guru ji

    My name is Paras Sharma.
    My Date of BIrth -- 03/10/1986
    Time of birth -- 09:20 am
    place of birth -- Sonipat Haryana

    Guru ji,
    Meri Shadi isse saal ho gai h
    My spouse name -- Priyanka
    DOB-- 11/05/1986
    TIME-- 04:01 PM
    PLACE- SONIPAT HARYANA

    GURU JI
    MAINE POLYTECHNIC KI IT(COMPUTER) Field se, B TECH Karna Chata tha pr aarthik pristhi thik nhi thi , isliya job ki 2005 me PRANTU MERI job mere FIELD KI NHI THI-- computer operator ki thi, phir maine job badli 2008 me delhi me wo bhi computer opertor ki h.
    prantu guru ji maine naukri ke saath saath padai jari rakhi, phle BSC (it) ki phir MCA KARI DEC. 2011,
    prantu job nhi mil rhi -- IT shetre ki kyoki jo milti h usme salary ab se kam hoti h

    GURU JI

    Par main ab Professor ki line main jana chahta hu, ab maine colleges main apply kar diya h kripya batay ki
    mujhe kis shetre main jana chaiye ?
    private main
    sarkari main
    professor line
    software IT Shetre

    job kab milegi ?

    guru ji, jeewan me tarki karne ki koi khaas baat agar apko kundli dekhe ke pata lge to bata dijiye ga.
    guru ji interview me select hone ka koi upay bata dijiye


    sadar pranam guru ji

    उत्तर देंहटाएं
  81. guru ji namskar
    mujhe wypar me ghata ho raha he jese kishi ne wypar ko bandh diya ho & ghar grhsti shukh bhi nahi he sadhi ko 10 year ho gye lakin biwi sath me nahi rahi aab talak ki dhmki dati he1 beta 9 year ka he kirpya koi upay batye please reply jarur kare
    sanjay 28-08-1969 time 11:15am bikaner

    उत्तर देंहटाएं
  82. PANDIT JI,, JAI SIYA RAM
    Name=Gagan,,DOB=02-04-1987,,TIME=1:30PM
    1ST =mai apse puchna chahta hu ki main study ke bad apne papa ke sath business seekh kar raha hu,, kya yahi mere liye thek hai ya mai apne future me koi job OR apna business kar sakta hu. Maine Study me sirf +2 ki hai.. Kya mai DUBAI ja sakta hu WORK PERMIT ke liye.

    2ND =mere vivah ke bad santaan [baby] yog hai.

    3RD =Mere liye kon sa moti acha hoga,,jise mai pehan sukta hu. jisse meri income badh jaye..

    4th =apne kaha tha ki [kidney peshab jai rog ho sukte hai to] [किडनी -पेशाब सम्बन्धी किसी रोग से दो चार होना पड़ सकता है] iska koi upay hai jo mai abhi kar sakta hu.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. PANDIT JI,, JAI SIYA RAM
      Name=Gagan,,DOB=02-04-1987,,TIME=1:30PM
      1ST =mai apse puchna chahta hu ki main study ke bad apne papa ke sath business seekh kar raha hu,, kya yahi mere liye thek hai ya mai apne future me koi job OR apna business kar sakta hu. Maine Study me sirf +2 ki hai.. Kya mai DUBAI ja sakta hu WORK PERMIT ke liye.

      2ND =mere vivah ke bad santaan [baby] yog hai.

      3RD =Mere liye kon sa moti acha hoga,,jise mai pehan sukta hu. jisse meri income badh jaye..

      4th =apne kaha tha ki [kidney peshab jai rog ho sukte hai to] [किडनी -पेशाब सम्बन्धी किसी रोग से दो चार होना पड़ सकता है] iska koi upay hai jo mai abhi kar sakta hu.

      हटाएं
  83. name-pradeep kumar
    d.o.b-12\7\1985
    time-3.40 am
    place-haldwani
    uttrakhand
    guru ji namaskar
    guru ji me abhi koi kaam nahi kar raha hu?
    aur mujhe har time soch me duba rahta hu?
    main kya upay karu jisse me apne jeevan ko sahi disha de saku
    maine abhi munga aur honex pehnna huya h
    mere liye kon sa ratna subh rahega aur kiski puja faldayi rahegi
    guru dev raah dikhaye

    उत्तर देंहटाएं
  84. hi. Namaskar

    My future is bright is not ? And how many raj yoga present in my horoscope ?

    DOB 19/3/1994
    BOT 23:45
    BOP UPLETA (GUJARAT)

    THANK YOU .

    उत्तर देंहटाएं
  85. namaskar pandi ji,
    charan spars

    1. pandi ji meri career me kya karoonga job ya business
    2. aur meri saadi kab hogi aur meri patni kaisi hogi

    dob- 05.02.1989
    time- 2pm
    dhanbad ( jharkhand )

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. संपन्न पारिवारिक पृष्टभूमि का प्रमाण चंद्रमा दे रहा है .आएश व पंचमेश का दशम भाव में होना संकेत करता है की आपके लिए नौकरी बेहतर परिणाम प्रस्तुत करेगी .दशमेश नीच राशि में विराजमान है ,विवाह योग चल रहे हैं .कभी भी दूल्हा बन सकते हैं .


      हटाएं
  86. . NAME - SKR
    DOB - 26-9- 1980
    PALACE - GHAZIPUR U.P.
    TIME - 6.30PM
    GURU G KO PRANAM ...GURU G MERI KUNADALI DEKH K BATAYEN KI MERI SHADI KAB TAK HOGI ...RISTE TO KAFI AA RAHE HAI LEKIN KISI K SATH HO NAHI PAA RAHA HAI JISKI WAJAH SE MERE MAA AUR PITA G KAFI PARESAAN HAI AUR BAHUT TENSSION ME HO JAATE HAI UNKO PARESAAN DEKH K MAI KAFI DISTURB HO JATA HUN ...KOI RASTA BATAYEN GURU G BAHUT URGENT HAI ...MERI SAARI PARESAANI KAB TAK DOOR HOGI

    उत्तर देंहटाएं
  87. NAME- DHARAM CHAND
    DOB- 28/10/1976
    PLACE- AJMER (RAJASTHAN)
    TIME- 10.35 AM
    GURU JI KO PRANAM, GURUJI MERI KUNDALI DEKH KE BATAYEN KI MERA BUSINESS DOWN CHAL RAHA HE, KAB SAHI CHALEGA AND POLITICS ME MERA CORIER KESA RAHEGA

    उत्तर देंहटाएं
  88. pranam guruji -jese hi mujhe samay milta he main apke lekh jarur padti hu .kafi rochak jankari ke sath hi aap nishulk sabki samasyayon ko padh kar uska samadhan bhi batate hain .iske liye main hardik abhar vyakt karte huye ishwar se aapke liye sache dil se dua mangti hu .guruji meri beti ki dob 25-02-1996 tob-6:40am ajmer ka birth he .name-ayushi h.mujhe esa lagta h ki ye alpayu h .kripya shighr batayen sath hi upay bhi avashy batayen .isase chhota beta h .jo ki mene badi mannto se paya h name -yogendra dob-28-11-2000 tob 3:05am ajmer iske bare me bhi kuch batayen .plz jaldi kripa karke amulya samay nikalen--

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कुम्भ लग्न में आपकी पुत्री का चयन कृतिका नक्षत्र में हुआ है .लग्नेश के रूप में शनि देव की दृष्टि अष्टम भाव पर ,उसे दीर्घायु प्रदान करती है .किन्तु चंद्रमा के रोगेश होम के कारण ऐसे जातकों को स्वास्थ्य सदा बिगड़ा हुआ रहता है .क्योंकि चंद्रमा शीघ्र राशि बदलता है

      ,इसलिए ऐसे जातक बार बार और जल्दी जल्दी बीमार होते हैं .आपको भविष्य में इन्हें सिर सम्बन्धी अथवा स्नायु सम्बन्धी किसी रोग के प्रति सचेत रहना होगा.चंद्रमा से सम्बंधित दान समय समय पर करते रहें .

      हटाएं
    2. guruji bahut bahut dhanyvad .apne meri samasya ke liye samay nikalkar meri shanka dur ki .par putra ke bare me bhi kripya kuch batayen.

      हटाएं
  89. pandit ji pranam......
    Name: dhananjay kumar mishra hai
    DOB- 30 sept 1987
    time : 6.08 pm
    place: Taria Dewaria(Kushinagar) uttar pradesh

    Guru ji mai bigat do warso se Banking ke taiyari Kar raha hu. Kaphi mehanat bhi kar raha hu......Lekin mujhe safalta Nahi mil rahi hai...i jindgai se pareshan ho chuka hu......kya mujhe nokari milegi ki nahi plz bataye...
    dhanyabad


    उत्तर देंहटाएं
  90. Guru Ji Pranam
    Name: Dhananjay Kumar Mishra
    DOB: 30 septmber 1987
    Place: Habirpur, Deoria(kushinagar) Uttar Pradesh
    Time: 6.08 PM

    Mai 2 saal se Banking Ki tariyari kar raha hu lekin safalta nahi mil paa rahi hai. bahut kam number se rah jata hu. Kripya bataye ki meri Bhagya me Govt. Naukari hai ki nahi........

    उत्तर देंहटाएं
  91. guru ji namskar
    mujhe wypar me ghata ho raha he jese kishi ne wypar ko bandh diya ho & ghar grhsti shukh bhi nahi he sadhi ko 10 year ho gye lakin biwi sath me nahi rahi aab talak ki dhmki dati he1 beta 9 year ka he kirpya koi upay batye please reply jarur kare
    sanjay 28-08-1969 time 11:15am bikaner

    उत्तर देंहटाएं
  92. guruji sadar charansparsh mera name gaurav dob-24-11-1982 time 00:12am ajmer ka birth h .mere govt job ka yog h ya nahi ..please batayen mujhe kab kamyabi milegi

    उत्तर देंहटाएं
  93. name-pradeep kumar
    d.o.b-12\7\1985
    time-3.40 am
    place-haldwani
    uttrakhand
    guru ji namaskar
    guru ji me abhi koi kaam nahi kar raha hu?
    aur mujhe har time soch me duba rahta hu?
    main kya upay karu jisse me apne jeevan ko sahi disha de saku
    maine abhi munga aur honex pehnna huya h
    mere liye kon sa ratna subh rahega aur kiski puja faldayi rahegi
    guru dev raah dikhaye

    प्रत्‍युत्तर दें

    उत्तर देंहटाएं

  94. trishank bhatt date of birth 18-3-1998 time 6.24 am kahipur uttarakhand

    guru ji meri service kab legagee

    उत्तर देंहटाएं
  95. namskaar guru ji ...mohan lal date 01-05-1974 time15:27 at patiala guru ji bhagya kab hoga ...

    उत्तर देंहटाएं
  96. Pradeep Sajwan

    5- April - 1985
    11.00
    Jaipur Raj.

    pandit ji mera sawal hai.. ki mayray kundli ghar 12 va sthaan pay MER, VEN, SUN bhatay hovay hai.. kya ay maray liaye sahi hai..

    उत्तर देंहटाएं
  97. Pandit Ji Namaste . Kya meri Kundali me Raj Yog hai , Hai to Kab Hai Birth date -22-6-1977 Time - 4.00 AM Please give me answer

    उत्तर देंहटाएं
  98. 5-oct-1973 time 06.00pm place kiritpur (C.G.)
    pandit ji meri zindagi me sukh ki kami mahsus karti hu kya aane wala samay achcha rahega mujhe koi ratn bataiye jisko dharan karne se khushiya mile kya mai moti dharn kar sakti hu sawyam ka ghar kab tak banega kya mujhe noukari karna thik rahega kya meri kundli me koi rajyog hai kripya bataiye...

    उत्तर देंहटाएं
  99. Namaste PAndit Ji . Mari Birth date: 22-6-1977 time 4.00 Am Gender - female pandit ji mere jivan me aise event hua hai marriage ke bare me, maine marriage ke bare me socha nahi tha lekin meri shadi suddenly ho gai on 16-12-1997 ab divorsed ho gaya hai 2006 me . Is ka karan kya hai ,mere do ladke hai jo mere pas hai , second marriage ke liye proposal aye the lekin aap hi ki tarah ek pandit ne meri kundali dekh kar kaha ki meri kundali me shadi ka sukh nahi hai - aap shadi karoge to trouble me ajaoge - kya yeh bat right hai ya wrong hai . kya meri kundali me shadi ka sukh nahi hai ? kripya bataye.... agar hai to marriage yog kab hai ? ya mujhe second marriage karna chahiye ya nahi .... mai chahti hoo ki meri life settle ho jaye kya ye possible hai ya nahi ---- Kya meri kundali me RAJ YOG hai ? Hai to Kab Hai ya mejhe konse upaye karna chahiye Kripya kar ke bataiye . I m waiting for eagerly....

    उत्तर देंहटाएं
  100. guruji pranam.... budh ke mahadasha mein agar shani ki antardasha ho to uska upaye kya hai....

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सागर जी,निर्भर लग्न पर करता है कि दोनों ग्रहों को क्या अधिकार,क्या सहूलियतें प्राप्त हैं?फिर भी सामान्य रूप से संचार,बैंकिंग व तकनीकी विषयों से लाभ प्राप्त किया जा सकता है.ग्रह अगर शुभावास्था में हैं तो सुन्दर समाचार प्राप्त होते हैं,यदि अशुभ कारक हैं तो सुखदायी समाचारों को प्राप्त होने में विलम्ब संभव है.

      हटाएं
  101. guru ji mera naam kiran tiwari.janm 22 july 1987
    time 4.20am lucknow up
    mujhe meri padai mere carrier mein saflta ni mil rhi or nahi meri life mein koi rista tikta hai.nivran kya hai.or aisa ku hai.hme kb saflta melegi .plz rply soon

    उत्तर देंहटाएं