शुक्रवार, 16 दिसंबर 2011

Kalsarp Dosh and remedy... कालसर्प दोष

काफी समय से कालसर्प योग की सत्यता को लेकर गुरुजनों में मतभेद चल रहा है.कोई इसकी सत्यता पर ही सवाल उठा रहा है,कोई इसके पक्ष में खड़ा है.वास्तव में यह सही है की हमारे प्राचीन शाश्त्रों में ऐसे किसी योग का उल्लेख नहीं मिलता.किन्तु ऐसे कई तथ्य हैं की जिन चीजों की जानकारी हमें पहले नहीं थी तथा उनकी ख़ोज बाद में हुई.अब आप उन तथ्यों को यह कहकर नकार नहीं सकते की पहले के ग्रंथों में इनका उल्लेख नहीं मिलता.ब्लॉग पहले नहीं होता था,ईमेल पहले नहीं होती थी.लैपटॉप का पहले कहीं जिक्र नहीं मिलता.
                 कहने का तात्पर्य यह है की यदि विद्वान् गुरुजनों ने किसी तथ्य की खोज बाद के काल में की है ,तो उस पर पूर्ण अध्ययन किये बिना उसे नकार देना हठधर्मिता है.कालसर्प योग पर अधिक ध्यान दिया जाना आवश्यक है.कई अवस्थाओं में यह योग कुंडली में मौजूद होते हुए भी निष्क्रिय होता है.कई बार इसके दुष्परिणाम भी दिखाई पड़ते हैं.कालसर्प योग बारह प्रकार के माने गए हैं.जो अधिकतर राहू की दशा-अन्तर्दशा में फलित होते हैं.इनका अधिक दुष्प्रभाव तब भी दिखाई पड़ता है जब चंद्रमा कमज़ोर हो रहे हों व राहू केतु पंचम भाव को प्रभावित करते हों तो  अपनी  १५-१६ वर्ष की आयु के दौरान जातक का ध्यान शिक्षा की और से डगमगाने लगता है,जबकि इस से पूर्व वह बेहतरीन छात्र के रूप में जाना जाता है.पातक (कई जगह इसका उच्चारण घातक भी किया गया है)कालसर्प योग के फलस्वरूप मैं स्वयं कई कुंडलियों में यह अध्ययन कर चुका हूँ की जातक सदैव अपने काम धंधे के प्रति सदा शंका में रहता है.काफी उम्र बीत जाने पर भी वह स्थाई नहीं हो  पाता.यदि इसमें कहीं दशम भाव शनि महाराज की उपस्तिथि या दृष्टि से प्रभावित हो जाये तो नौकरी छूटने या किसी मामले में नाम फंसने से सजा तक की नौबत आ जाती है.३६ वर्षायु तक यह योग मैंने अधिक कष्टकारी होते देखा है.पश्चात कई दशाओं में यह योग स्वतः ही शांत होते देखा है मैंने.आपको सुन कर हैरानी होगी की कई कुंडलियों में मैंने कोई महत्वपूर्ण योग न पाकर भी जातक को सफलता के शिखर पर पाया.किन्तु वहां कालसर्प योग विद्यमान था.ऐसा मैं कई कुंडलियों में देख चुका हूँ.अत: अपने अनुभव से यह पाया है की  यदि किसी कुंडली में ब्रहस्पति व सूर्य बली हों तो कालसर्प योग एक आयु के पश्चात स्वयम राज योग में परिवर्तित होता है.कई ऐसे जातक जिनकी जन्म कुंडली में काल सर्प योग है वो सफलता के सर्वोत्तम शिखर पर पहुंचे हैं.राजनीतिज्ञों की कुंडली में यदि अन्य सहायक योग मौजूद हों तो यही कालसर्प योग राजयोग बन जाता है.अभी इस विषय पर और शोध करने का प्रयास कर रहा हूँ .कोई नयी अनोखी बात पता चलेगी तो बांटने का  प्रयास करूँगा .यदि  ऐसे में कभी आप को संशय हो की हमारी कुंडली में ऐसा कोई दोष मौजूद है तो उपाय  स्वरुप द्वादश ज्योतिर्लिंग मन्त्र का नियमित जाप करें.शिव नागों के देव हैं.शिव मंदिर में बेल पथरी अर्पित करें.बैल को हरी घास खिलाएं और चमत्कार अनुभव करें.

  ( आपसे प्रार्थना है कि  कृपया लेख में दिखने वाले विज्ञापन पर अवश्य क्लिक करें ,इससे प्राप्त आय मेरे द्वारा धर्मार्थ कार्यों पर ही खर्च होती है। अतः आप भी पुण्य के भागीदार बने   )                 

37 टिप्‍पणियां:

  1. guruji pranaam,
    meri dob 01-02-1986 tob 3:40 pm,varanasi.
    kya meri kundali me KAL SARP DOSH hai? agar haan to upay bataye

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आशीर्वाद ,.... शेषनाग नामक कालसर्प दोष का प्रमाण दिखाई मिल रहा है .अपनी भुक्ति दशा में यह कोर्ट -कचहरी ,मुकदमों आदि में उलझाने वाला माना गया है. श्री कृष्ण की उपासना करें .शेषनाग का मान मर्दन भला उनसे बेहतर कौन कर सका है. फिर स्वयं विष्णु के अवतार हैं वो जिन की शैय्या है शेषनाग .शेषनाग के भाल पर अपने चरणों से नर्तन करते वासुदेव कृष्ण की तस्वीर लाकर उसकी नित्य उपासना करें ,कल्याण होगा ,

      हटाएं
  2. guruji parnaam, mere bete ka naam ankit hai uski birth date 24 navmber 1995 new delhi hai kya uski kundli me kal surp dosh hai . hai to upay bataye

    जवाब देंहटाएं

  3. Guruji parnam, kya muje govt job miln k koi chance hai
    Dob 28 aug 1984
    Time 11.30am
    Place indore

    जवाब देंहटाएं
  4. guruji bahut hi uttam vivechana kia hai aapne. kaalsarp yog ke pravao par atayant upyogi baate aapne batayi hai. aapke kathan mere jivan me upasthit samasyo se mail khati hai. is se kaalsarp yog ki satyata ka pata chalta hai aur aapka lekh bhi pramanik ho jaata hai.

    mera dob:6-dec-1980 4:28 am madhubani bihar ka hai. kundali me paataak kaalsarp yog ban raha hai. 16ve varsh me(apr1996) jab shani me rahu ka antar aaya, apr1996 me hi mujhe small-pox hua jo rahu zanit rog maane jate hain. fir nov 1996 me mutra (rakt aana , bahumutrata aadi) sambandhi rog evam sarir me dard rahne laga. 2nd bhaav me 1 degree ka vrischik ka chandrama hai jispar rahu ki pancham dristi par rahi hai. 1999 se prawal mansik kasto se jujhta raha. pachan tantra ke rogo ne bhi khub sataya. akagrata me kramsah hras ki vajah se padhi me picharta gaya. CA ki padhai ki khoob kosish ke baad 2011 tak CA-inter nikaal paya. 2010 tak man sarir ki yah stithi bani rahi . iske bad maine kai upay-upchar pooja-paath kiye hai tab ab kuch chin ki saans le raha hun.
    vartmaan me mai unemployed hun. aaj tak apne haath ka ek rupaya nahi kama saka. padhai maine chod dia hai. pustaini business karna chahata hun par vo ab bade bhai ke kabje me hai. ghar- jayedad bhi haath se nikalne ka khatra hai. maa varsho se vimar rahti hai, pitaji madad karne me swayam ko asahai mahsoos karte hain. matlab ki mata-pita ke sambandh me bhi yeh yog kaam kar raha hai.
    ghar me kalah-kalesh ki sthiti hai, ghar-bahar kahi se madad nahi milti.
    maine panna moti munga amethyst aur ghode ka naal pahan rakha hai.
    aap ke lekh padhkar bahut aas jagi hai, aap hi meri jindgi sawar sakte hai. Hay gyansagar kripa mera maarg darshan kare.

    जवाब देंहटाएं
  5. सुमन बाबू, बड़े ही मार्मिक अंदाज में आपने अपनी व्यथा रखी.अब जो हम कहते हैं वो सुनो,वर्तमान समय तुम्हे मई के बाद व्यवस्थित होने का समय देगा.आज नहीं तो कल और कल नहीं तो परसों,परसों नहीं तो चाहे साल बाद किन्तु आखिरकार तुम्हारा कार्य क्षेत्र जल से सम्बन्धी होगा,सीधे चाहे किसी प्रकार जुड़ा हुआ.सन 2015 के बाद कभी किसी को कुंडली दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी.यदि संभव हो तो धीरे धीरे स्वयं को राजनीति से जोड़ने का प्रयास करो.तुम्हारे लिए यही योग राजयोग में परिवर्तित होगा 36 वें वर्ष के पश्चात,ऐसा मैं स्पष्ट रूप से देख पा रहा हूँ.तुम्हारे धन ,तुम्हारे स्टैण्डर्ड का रुतबा संसार देखेगा,ऐसा मेरा वचन है.अभी तीन वर्ष हालात को एडजस्ट करो.सारे रत्न निकाल कर दाहिने हाथ पर हरा धागा बांधो, व मात्र amythist धारण करो.ताम्बे के बर्तन का पानी पियो व घर के पश्चिमी कमरे में निवास करो.तीन माह बाद पुनः संपर्क करना.और अपने स्वर्णिम काल में यदि पंडित जी तुम्हे याद रहे तो तब मिलना.हम अपनी दक्षिणा तुम से सन 2017 में मांगेंगे.

    जवाब देंहटाएं
  6. guruji ko pranam ,
    mera pustaini business makhane(dry fruit) ka hai jo jal me utpanna hota hai. sambhavatah chandra aur sukra se iska sidha sambandh hai. mai is vyapar me hone wali teji-mandi ko itna badhiya se samajh leta hun ki 4-6 mahine pahle hi teji mandi ko predict kar leta hun. aur 75% prediction aksharsah sahi utarte hain. aur baki prediction ki disha bhi mere kahe anusar hoti hai, aapke maargdarshan dene ke liye aabhari hun. meri badi pareshani thi ki mai yeh vyapar kab aarambha karunga aur ye kabhi shuru ho payega ki nahi. aapke kathan se yeh spasta ho gaya hai ki mai is vyapar ko bhavishya me kar sakunga.
    mai apne makan ke dakchin-paschim me uttari ksherta me sota hun , sare upay mai suru kar raha hun.
    naukari me safalta yadi koi yog hai to bataye ki kis ashetra me focus karu. yadi mansik dukh-aprashnnata ,avsad se nikalne ka upay aapne na btaya ho to batane ki kripa kare. 3 mahine baad mai awasya sampark karunga. thoda vyavasith ho kar sadakshina jarur aap jaise deivagya lok-kalyan me tatpar mahanubhav se milna chahunga.
    aabhari-suman kumar

    जवाब देंहटाएं
  7. ek baat aur janana tha , kya meri kundali me pitri dosh ban raha hai.

    जवाब देंहटाएं
  8. guru ji ko pranam mera DOB 21-12-1984 hai kya mujhe kalsarp yog hai / nahi ? har baar acchi naukari milti hai parantu kisi karanwash naukari chutt jaa rahi hai , kripya upaye bataye kaafi paresan hun main aajkal?

    जवाब देंहटाएं
  9. guru jo ko pranam mera DOB 21-12-1984 evening 6 PM mujhe ye janna tha ki meri kundli me kalsarp yog hai // nahi ? 3 saalon se har baar acchi naukari milti hai par kisi karan wash chutt jaati hai ? kaafi presan hun koi marg darshan karen ?

    pranam

    जवाब देंहटाएं
  10. Namaste guru ji mera naam Deepti hai . mujhe janna hai ki mere kundali me kalsarp dosh hai kya . mujhe abhi tak job nahi mili hai jiski bahut jyada jarurat hai , mujhe job kab tak milegi . mera DOB 29-10-1981 hai time subah 11:10 ka aur Birth Place Lucknow UP hai ... kripya batayen

    जवाब देंहटाएं
  11. Namaste guru ji mera naam Deepti hai . mujhe jannna hai ki mere kundali me kalsarp dosh hai kya . Mujhe abhi tak job nahi mili hai jiski bahut jyada jarurat hai , mujhe job kab tak milegi . mera DOB 29-10-1981 hai time subah 11:10 AM aur birth place Lucknow UP hai ........ kripya batayen

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. बैंकिंग व फाइनेंस अथवा डाक विभाग से जुड़ सकती हैं ।काल सर्प दोष से घबराने की आवश्यकता नहीं है।

      हटाएं
  12. pandit ji pranaam ---------meri kundali me patak/ghatak namak kaal sarp dosh hai , mera dob-22/08/1976 hai upaya batayen, mera married life aacha nahi chal raha wa financial problem bhi hai.

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. जन्म स्थान नहीं बताया आपने ? बोन्साई बरगद लगा कर नित्य जल डालें। मैकेनिकल -इलेक्ट्रिकल आदि क्षेत्रों में कार्य करें। राजनीति से जुड़ें।

      हटाएं
  13. name- avinash lakhera
    dob 10/11/1986
    time-10:55am'
    place--jabalpur m.p
    guruji namaskar pandit ji meri gov job kab tak lagegi aur mere har kamo m bhut rukavat ati h kya karu meine kalsharp yog ki v shanti kara li h uska kuch fark samaj nai a raha h aur pilapukhraj v dharan kiya h aur kon sa ratna dharad karna chahiy muje kiripya ap mere in sawalo k jawab dene ki kirpa kare
    thank you
    avinash lakhera

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. मैकेनिकल अथवा इलेक्ट्रिकल शिक्षा की सहायता से नौकरी के योग अधिक पुष्ट होते हैं। परोक्ष या अपरोक्ष रूप से विदेशी संस्थानों -स्थानो-लोगों से शीघ्र सम्बन्ध बनने के आसार हैं।सारे रत्न त्याग कर मात्र पुखराज धारण करें। हर मंगलवार बजरंग बाण का पाठ करें। मीठे का त्याग करें ,भवानी की कृपा रही तो अगले वर्ष की जुलाई से पूर्व ही सब नियंत्रण में होगा .

      हटाएं
  14. guruji parnaam

    mari kunli mai paatak kaal sharp osh hai krapiya kar kai koi upaye bayaye
    mari DOB july 1983 hai morning 11:35 am

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. एक बार काशी हो आइये व गंगा में स्नान कीजिये ,शिव नागों के अधीष्ट देवता हैं ,काशी शिव की नगरी है ,एक बार काशी दर्शन से ही समस्त सर्प दोषों से स्वतः ही मुक्ति मिल जाती है।

      हटाएं
  15. भगवन प्रणाम मेरा नाम राहुल शुक्ल है मेरी जन्मतिथि 05-03-1985 समय 10:50 am जन्मस्थान उन्नाव उत्तर प्रदेश
    भगवन कोई कार्य भी ठीक से चल ही नही पा रहा है। अचानक व्याधियां आ जाती है और कार्य बंद हो जाता है पैसे भी बर्बाद हो जाते है अब तो हालात कुछ ऐसे है की धन है ही नही और कर्ज भी हो गया है। हर तरह से बर्बाद हो चुके है। दया करे भगवन कोई राह दिखाए ।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. भाग्य में गुरु व आय में बुध नीच हो गए न राहुल साहब ,उसी का परिणाम है ये … आप विपरीत राजयोग लेकर जन्मे हैं। दाराशिकोह की कुंडली में ये योग था ,कर्णाटक युद्ध में जैसे ही विजय प्राप्त करके आगे बढ़ा ,औरंगजेब के विश्वासपात्र सिपाही ने पीठ पर भाला घोंप दिया .... किसी भी कार्य को निबटाने एकदम से उसकी तरफ पीठ न करें ....... दो तीन कदम उल्टा चलें … साथ ही को पूर्ण करने के बाद भी तीन दिन उसपर निगाह रखें … पन्ना रत्न सवा आठ रत्ती धारण करें ……

      हटाएं
  16. GURUJI NAMASHKAR!

    MERA NAAM BASANT KUMAR HAI AUR MERA DOB- 27 DEC 1986 TIME: 7AM PLACE AJMER HAI. MAIN APNE CARRIER KO LEKAR KAFI PRAYAS KAR RAHA HU LEKIN KOI SAFLATA NAHI MIL RAHI SATH HI KAFI TENSE RAHTA HU, PLS HELP ME

    जवाब देंहटाएं
  17. बसंत जी चिंता बिलकुल न करें ,समय अनुकूल है। घर के मुख्य द्वार पर पवन घंटियां (विंड चेम ) लगाएं। लहसुनिया रत्न चांदी में सवा आठ रत्ती धारण करें। रोज एक हरी इलायची व तुलसी का एक पत्ता ९० दिन तक मंदिर में विष्णु जी को अर्पित करें।आपका सम्बन्ध परोक्ष या अपरोक्ष रूप से विदेशी संस्थाओं से अगले १८० दिनों के भीतर हो रहा है। प्रयास जारी रखें।

    जवाब देंहटाएं
  18. गुरूजी प्रणाम,

    मेरा नाम सूर्य प्रकाश ओझा है मेरा DOB 03/08/1984 है समय सुबह 9.00 बजे जन्म स्थान गांव - महेशपुर, जिला - पाकुर पूर्व साहेबगंज, राज्य - झारखण्ड, पूर्व बिहार है, गुरूजी आज तक मैंने जो चाहा वो मुझे नहीं मिला सही कारीइर भी नहीं बना प् रहा हूँ. कुछ समझ में नहीं आ रहा क्या करूँ कृपया मेरी मदद कर्ण गुरूजी जिसके लिए मैं सदा आपका आभारी रहूँगा

    आपका धन्यवाद

    उत्तर की आशा में
    सूर्य प्रकाश ओझा

    जवाब देंहटाएं
  19. प्रणाम गुरूजी,

    मैं सूर्य प्रकाश ओझा DOB ०३/०८/१९८४ समय सुबह ९.०० बजे जन्म स्थान गाँव - महेशपुर, जिला - पाकुर, पूर्व साहेबगंज जिला, राज्य - झारखण्ड पूर्व बिहार, मैं बहुत परेशान हूँ कृपया भाग्य बताएं जिसके लिए मैं सदा आपका आभारी बना रहूँगा.

    आपका विश्वाशी
    सूर्य प्रकाश ओझा

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. विष दोष का परिणाम आप भुगत रहे हैं साथ ही गुरु वक्री हैं .......लहसुनिया रत्न चांदी में धारण करें ,अपने कमरे अथवा घर की दक्षिणी दीवार पर हाथी का चित्र लगाएं , प्रभु की कृपा से अप्रैल माह से समय नियंत्रण में होगा

      हटाएं
  20. Guru ji parinaam
    Name Harmeet Singh
    DOB 03. 11. 1986
    BOT 4:45PM
    PLACE PATIALA PUNJAB
    MUJE CARRIER K BAARE MEI PUCHNA H MEI FORGEIN JA SKTA HU YA NHI MERI GOVT. JOB BNN SKTI H KBB TKK

    जवाब देंहटाएं
  21. Guruji pranam.mere putra ka janm 28 November 2000 time 3:05 am Ajmer ka h.kya ye alpayu h please batayen.

    जवाब देंहटाएं
  22. Guruji pranam.mere putra ka janm 28 November 2000 time 3:05 am Ajmer ka h.kya ye alpayu h please batayen.

    जवाब देंहटाएं
  23. Guru G parnaam mera naam Amit Chaudhary hai DOB 9 may 1980 hai time 11:55 am hai Palace muzaffernagar up hai kirpya mere kindly k bare me bataye haal sharp dosh hai kya nahi or hai to kon same koi dosh Bhi hai kya or uppaye kya hai

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको कालसर्प से अधिक ग्रहण शान्ति की आवश्यकता है। मूंगा व मोती एक साथ चांदी में धारण कीजिये व अपने कार्यस्थल अथवा घर पर समुद्र व पूर्णिमा के चंद्र की तस्वीर लगाइये ,,,प्रत्येक सोमवार ढाक के वृक्ष पर दूध अर्पित कीजिये ,,,,योग्य ब्राह्मणों द्वारा गंगा घाट पर ग्रहण शान्ति कराइये ,,,

      हटाएं
  24. Guru Ji pranam name ashok d.o.b.11/10/1986 place sikar Rajasthan time 01.00 a.m.kya kalsarp yog h bhut prrshan hu job ke liye

    जवाब देंहटाएं
  25. GURU JI,

    MY NAME IS SUSHIL AND DOB: 02-JAN-1969 TIME 6.10 PM PANIPAT. KINDLY ADVISE ME SOME SOLUTION AS I AM AFFECTED WITH KAAL SARP DOSH AND SHANI IN 10TH PLACE IN KUNDLI.

    AT PRESENT, ALSO SHANI MAHADASHA IS HAPPENING.

    PLEASE ADVISE.
    HOPE TO HEAR FROM YOU SOON.
    THANKS,

    जवाब देंहटाएं
  26. गुरुजी प्रणाम
    मेरा नाम सरिता है
    जन्म ९ अगस्त १९८९
    रायपुर
    मेरे पति की मृत्यु हो गई है
    दो बच्चे हैं
    आगे मेरे साथ क्या होगा?

    जवाब देंहटाएं
  27. Very nice post.There are two types of kalasarpa doshas one with Rahu on top and another with ketu on top . If ketu on top and Rahu is down I'll is not that harmful But if Both are in ascendant and decendant places it is also not harmful If lagna is in between that is also not very harmful. Rahuketupooja in Kalahasti will remove the negative effects. see more -https://bit.ly/2I5Kaie

    जवाब देंहटाएं